Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

लॉकडाउन के दौरान भारत में बैन हुई WeTransfer वेब साइट, जानिए क्या हैं विकल्प

WeTransfer पर यह प्रतिबंध उस समय लगा है जब कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में वर्किंग फॉर्म होम के दौरान ढ़ेरों कंपनियां लार्ज साइज की फाइलें और डेटा ट्रांसफर करने के लिए WeTransfer की सेवाओं का उपयोग कर रही है।
अपडेटेड Jun 02, 2020 पर 09:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय दूरसंचार विभाग ने राष्ट्रहित और सार्वजनिक हित का हवाला देते हुए लोकप्रिय फाइल ट्रांसफर वेबसाइट WeTransfer को भारत में बैन कर दिया है।


मुंबई मिरर की एक रिपोर्ट के मुताबिक दूरसंचार विभाग ने 18 मई को दिए गए निर्देश में टेलीकॉम ओपरेटर और इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडरों (ISPs) को तीन वेबसाइट यूनिफॉर्म रिसोर्स लोकेटरों (URLs) को बैन करने के लिए कहा है। उसमें से एक WeTransfer वेबसाइट का है। दो और प्रतिबंधित किए गए यूआरएल भी WeTransfer के ही खास पेज हैं।


इसके बारे में जानकारी नहीं है कि इस लिंक की विषय वस्तु क्या थी और क्यों ये पूरी वेबसाइट बैन की गई है।


मनीकंट्रोल ने मोबाइल और डेस्कटॉप दोनों के जरिए WeTransfer से संपर्क साधने की कोशिश की लेकिन उसको यही मैसेज मिला कि The site cant be reached.


WeTransfer पर यह प्रतिबंध उस समय लगा है जब कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन में वर्किंग फॉर्म होम के दौरान ढ़ेरों कंपनियां और शिक्षा संस्थान लार्ज साइज की फाइलें और डेटा ट्रांसफर करने के लिए WeTransfer की सेवाओं का उपयोग कर रही हैं।


साल 2009 में स्थापित WeTransfer के पूरे दुनियाभर में 5 करोड़ यूजर हैं। लॉकडाउन के दौरान भारत में इसके यूजरों में जोरदार बढ़ोतरी देखने को मिली है। यह वेबसाइट यूजर को 2GB तक की लंबी फाइल को मुफ्त में भेजने की सुविधा देती है और इसके लिए कोई अलग अकाउंट बनाने की जरुरत नहीं होती।


WeTransfer के प्रीमियम यूजर इस साइट के जरिए 20GB तक की फाइल भेज सकते हैं और उनको 1TB का स्टोरेज स्पेस भी मिलता है। सामान्य तौर पर किसी  वेबसाइट को तब बैन किया जाता है जब वह किसी अवैध काम के लिए उपयोग में आती है या उसकी वजह से पोर्नोग्रॉफी को बढ़ावा मिलता है या फिर वे राष्टीय सुरक्षा के लिए खतरा उत्पन्न करती हैं। 


ट्वीटर पर इस खबर से जुड़े सवालों का जवाब देते हुए WeTransfer ने कहा है कि उसको भारत में आंशिक रुप से प्रतिबंध किए जाने की जानकारी मिली है और वह इस बारे में और जानकारी हासिल करने की कोशिश कर रही है। WeTransfer वेबसाइट ने अपने यूजरों से इस सेवा को उपयोग में लेने के लिए वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (VPN) यूज करने की सलाह दी है।


इस बीच कुछ यूजर्स इस वेबसाइट को किसी तरह से बगैर VPN के यूज करने में सफल रहे हैं। गौरतलब है कि इस तरह के कई और ऐप और वेबसाइट हैं जिनको हम WeTransfer के विकल्प के तौर पर उपयोग में ला सकते हैं और बड़े आकार की फाइलें भेज सकते हैं। इन वेबसाइटों और ऐप की सूची में DropBox, Google Drive आदि शामिल हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें