Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

चांद पर उतरने वाला चौथा देश बनेगा भारत, 15 जुलाई सुबह 2.51 पर लॉन्च होगा चंद्रयान 2

प्रकाशित Fri, 12, 2019 पर 16:44  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

भारत 15 जुलाई को अपना अब तक का सबसे अहम अंतरिक्ष मिशन चंद्रयान 2 लॉन्च करेगा। इस मिशन के साथ ही भारत चांद पर लैंड करने वाला दुनिया का चौथा देश बन जाएगा। चंद्रायान 2 का लक्ष्य चांद पर पानी और ऊर्जा के स्रोत की खोज करना है। इसके लिए चांद के दक्षिणी ध्रुव के पास चंद्रयान अपना रोवर उतारेगा।


चांद पर भारत के पहले मिशन चंद्रयान 1 के 10 साल बाद ISRO चांद की तरफ दूसरा कदम बढ़ाने जा रहा है। चंद्रयान-2 15 जुलाई तड़के 2.51 मिनट पर लॉन्च किया जाएगा। 3 लाख 84 हजार किलोमीटर का सफर 50 दिन में पूरा होगा।


ये एक दिलचस्प यात्रा होगी। 20 दिन तक, जब तक इसे पृथ्वी के ऑर्बिट से ट्रांस लूनर ऑर्बिट में नहीं पहुंचाया जाता, इस लूनर क्राफ्ट को बंगलुरू के ग्राउंड स्टेशन से कंट्रोल किया जाएगा। 1 सितंबर को चंद्रयान 2 लूनर ऑर्बिट में पहुंच जाएगा।


चंद्रयान-2 के 3 हिस्से हैं: लैंडर, ऑर्बिटर और रोवर। ऑर्बिटर चांद के चक्कर लगाएगा, जबकि लैंडर और रोवर प्रयोगों को अंजाम देने के लिए हल्के से चांद की सतह पर उतर जाएंगे।


चंद्रयान का ऑर्बिटर 2.5 मीटर लंबा और 3500 किलो वजन वाला है। यह अपने साथ 8 पेलोड लेकर जाएगा और चंद्रमा का चक्कर लगाएगा। 1400 किलो वजन और 3.5 मीटर लंबाई वाला लैंडर विक्रम चंद्रमा पर उतरकर रोवर को स्थापित करेगा।


चंद्रयान 2 का रोवर प्रज्ञान 27 किलो का है और इसकी 1 मीटर लंबाई है। इसमें 2 पेलोड होंगे। यह सोलर एनर्जी से चलेगा और अपने 6 पहियों की मदद से चांद की सतह पर घूम-घूम कर मिट्टी और चट्टानों के नमूने जमा करेगा।