Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

भारतीय विदेशी नागरिक भी National Pension System में कर सकेंगे इन्वेस्टमेंट

NRI की तरह OCI नागरिक भी सरकार के साथ National Pension System में अप्लाई करने के लिए पात्र होंगे।
अपडेटेड Oct 31, 2019 पर 09:12  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फाइनेंस मिनिस्ट्री ने एक बयान जारी कर कहा है कि Non-Resident Indians (NRI) की तरह Overseas Citizens of India (OCI) नागरिक भी National Pension System में इन्वेस्टमेंट कर सकेंगे। Pension Fund Regulatory and Development Authority (PFRDA) ने अब OCI को NRI की तर्ज पर NPS में इन्वेस्टमेंट करने की मंजूरी दे दी है। ये मंजूरी 29 अक्टूबर को जारी किए सर्कुरल में दी गई है। सरकार ने Department of Economic Affairs on Foreign Exchange Management (Non-debt Instruments) नियम 2019 के नोटिफिकेशन के जरिए कहा है कि OCI अब NPS में शामिल हो सकते हैं। जिसे PFRDA के नियमों में पात्र होना चाहिए। NPS का जिम्मा और उसकी देख-रेख PFRDA के पास है।


बता दें कि कि PFRDA के तहत दो पेंशन स्कीम शुरु हैं। जिनमें एक NPS और दूसरी अटल पेंशन योजना है।


जो भी विदेशी नागरिक (OCI) NPS लेना चाहते हैं वो PFRDA नियमों के तहत पात्र माने जाएंगे। वो रिटायरमेंट फंड, डिपोजिट फंड अपने देश ले जा सकेंगे। और यह Foreign Exchange Management Act (FEMA) की गाइडलाइंस पर निर्भर करेगा।


दरअसल NPS में किए गए योगदान पर इनकम टैक्स के एक्ट 80CCD (1B) के तहत 50,000 रुपये के इन्वेस्टमेंट करने पर अतिरिक्त छूट मिलती है। ये 80CCD(1)के अलावा है। सेंट्रल बजट 2019 में NPS से मेच्योरिटी पर या पूरी रकम एकमुश्त निकालने के लिए कर छूट को इनकम टैक्स एक्ट 10 (12A) के तहत मौजूदा 40 फीसदी से बढ़ाकर 60 फीसदी कर दिया गया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।