Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बोरिंग ऑफिस को Innov8 का ट्विस्ट, वर्क-स्पेस के कॉन्सेप्ट से बना स्टार्टअप का नया मिसाल

ऑफिस के बोरिंग टेबल, कुर्सी और कंप्यूटर वाली तस्वीर को इनोवेट खुबसूरती से बदल रहा है।
अपडेटेड Nov 06, 2019 पर 12:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ऑफिस के बोरिंग टेबल, कुर्सी और कंप्यूटर वाली तस्वीर को इनोवेट खुबसूरती से बदल रहा है। कोवर्किंग स्पेस स्टार्टअप इनोवेट ना सिर्फ वर्क-स्पेस के कॉन्सेप्ट को भारत में मशहूर किया बल्कि खास इनोवेशन के जरिए ऑफिस का रंग रूप भी बदला है।


ये मुगलों के जमाने में बना कोई किला नहीं है बल्कि मॉर्डन जमाने का ऑफिस है बेहतरीन कॉन्सेप्ट और डिजाइन इनोवेट के को-वर्किंग स्पेस की खासियत है। काम करने की जगह को इतना खूबसूरत बनाने का क्रेडिट जाता है दिल्ली के 30 साल के रितेश मलिक को। मेडिकल स्कूल में रहते हुए रितेश मलिक की हमेशा से ही आंत्रप्रेन्योरशिप में दिलचस्पी रही। यही वजह है कि गंगाराम हॉस्पिल में डॉक्टरी छोड़ वे एक ऐसे कॉन्सेप्ट पर काम करने लगे जिसकी तलाश मे अकसर नौकरीपेशा युवा रहते हैं। लेकिन उनके लिए ये फैसला इतना आसान नहीं था।


कुछ अलग करने की ये सोच रितेश को सीलिकॉन वैली से मिली और उन्होने देश में को-वर्किंग स्पेस में इनोवेट नाम से स्टार्टअप शुरु करने का फैसला किया। जनवरी 2016 में दिल्ली के कनॉट प्लेस में एक छोटे से ऑफिस की शुरुआत की थी, लेकिन आज देश भर में इनोवेट की इनोवेशन दिखाई दे रहा है।


दिल्ली के साकेत के ओल्ड फोर्ट बिल्डिंग में ये 420 सीट की कैपेसिटी का ऑफिस बनाया गया है। यहां किसी भी कोने में बैठकर काम करने में बोरियत बिल्कुल महसूस नहीं होगी। कुछ इसी तरह क्नॉट प्लेस की रीगल बिल्डिंग में बनी इनोवेट प्रॉपर्टी जेन गार्डन को फिल्मी अंदाज में डिजाइन किया गया है। इनोवेट के को-वर्किंग स्पेस में छोटे स्टार्टअप्स से लेकर फॉर्च्यून 500 की कंपनियों के दफ्तर हैं।


इनोवेट में Paytm के मालिक विजयशेखर शर्मा भी पैसा लगा चुके है। हाल ही में OYO स्पेस ने 200 करोड़ रुपए में इनोवेट को खरीदा है। फिलहाल इनोवेट OYO स्पेस का सबसे पॉपुलर ब्रांड बन चुका है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।