Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पी-नोट्स के जरिए 78,110 करोड़ का निवेश बढ़ा

पंजीकृत विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक यानी FPI उन विदेशी निवेशकों को पी-नोट्स जारी करते हैं, जो भारतीय शेयर बाजार में निवेश तो करना चाहते हैं लेकिन अपना पंजीकरण नहीं कराना चाहते हैं।
अपडेटेड Apr 18, 2019 पर 09:07  |  स्रोत : Moneycontrol.com

पी नोट्स यानी पार्टीसिपेटरी नोट्स के जरिए घरेलू बाजार में इस बार हरियाली छाई रही। हाल ही में सेबी ने जो आंकड़े जारी किए हैं उसके मुताबिक पी-नोट्स के जरिए घरेलू बाजार में मार्च के आखिरी में निवेश बढ़कर 78,110 करोड़ पार कर गया। 


पंजीकृत FPI) उन विदेशी निवेशकों को पी-नोट्स जारी करते हैं, जो भारतीय शेयर बाजार में निवेश तो करना चाहते हैं लेकिन अपना पंजीकरण नहीं कराना चाहते हैं।


सेबी के द्वारा जारी किए गए हालिया आंकड़ों के मुताबिक, मार्च के अंत तक पी-नोट्स के जरिये भारतीय बाजारों  यानी शेयर, बांड और डेरिवेटिव्स में निवेश 78,110 करोड़ रुपये रहा। फरवरी के अंत तक यह आंकड़ा 73,428 करोड़ रुपये था।


जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा कि पी-नोट्स के जरिये निवेश कैश सेगमेंट में एफपीआई के प्रवाह में बढोतरी के अनुरूप है। यह फरवरी में 13,500 करोड़ रुपए था, जो मार्च में बढ़कर 32,000 करोड़ रुपए हो गया। मार्च अंत तक कुल पी-नोट निवेश में 56,288 करोड़ रुपए शेयरों में, 20,999 करोड़ रुपए डेट में और 119 करोड़ रुपए डेरीवेटिव मार्केट में निवेश किए गए हैं।