Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

तबलीगी जमात की रिपोर्टिंग वाले पत्रकारों को मिल रही हैं धमकियां: News Broadcasters Association

एंकर और रिपोर्टर्स को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे WhatsApp, TikTok और Twitter के जरिये विशेष रूप से निशाना बनाया जा रहा है
अपडेटेड Apr 07, 2020 पर 09:01  |  स्रोत : Moneycontrol.com

न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन (NBA) ने कहा है कि भारत में COVID-19 के मामलों को बढ़ाने वाले तबलीगी जमात की रिपोर्टिंग करने पर पत्रकारों को धमकियां और गालियां दी जा रही हैं।


गौरतलब है कि इस संगठन ने 21 दिनों के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन से पहले मार्च में एक धार्मिक सम्मेलन का आयोजन किया था। इसमें करीब 9 हजार लोग जमा हुए थे जो कई देशों से आकर इस धार्मिक सम्मेलन में शामिल हुए थे।


NBA ने अपने बयान में कहा है कि न्यूज चैनलों में काम करने वाले एंकर और रिपोर्टर्स को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे WhatsApp, TikTok और Twitter के जरिये विशेष रूप से निशाना बनाया जा रहा है।


NBA ने कहा कि सोशल मीडिया पर ऐसे वीडियो प्रसारित किये जा रहे हैं जिसमें कुछ धार्मिक प्रचारकों एवं उपदेशकों द्वारा टीवी न्यूज के चैनल एंकरों का नाम लेकर उन पर हमला करने की धमकी दी जा रही है।


NBA ने ऐसे धार्मिक प्रचारकों एवं उपदेशकों को न्यूज चैनलों को खुली धमकी देने और आक्षेप करने से बाज आने की सलाह दी है क्योंकि इससे बोलने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का हनन होता है।


NBA ने आगे कहा है कि धार्मिक लीडर भारत में कोरोना वायरस के फैलाव में तबलीगी जमात की भूमिका पर अपना पक्ष स्पष्ट करने के लिए न्यूज चैनल का उपयोग कर सकते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।