Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

स्कूलों में बैन होगा जंक फूड, FSSAI ने तैयार कर ली है गाइडलाइंस

स्कूल में या स्कूल के आस पास जंक फूड ना तो बिकेगा और ना ही जंक फूड का विज्ञापन दिखेगा।
अपडेटेड Nov 06, 2019 पर 12:54  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

स्कूल में या स्कूल के आस पास जंक फूड ना तो बिकेगा और ना ही जंक फूड का विज्ञापन दिखेगा। सरकार ने इसके लिए नियम तैयार कर लिए हैं और जल्द ही ये लागू हो जाएगा। ये काम कोर्ट के लगातार दबाव में हो रहा है। मगर बतौर परेंट्स हम क्या कर रहे हैं। बच्चों को टिफिन में जंक फूड दे रहे हैं, उसे पिज्जा, बर्गर खिलाने में फक्र महूसस करते हैं। ये जाने बिना कि जंक फूड में कैलोरी तो खूब होती है लेकिन न्यूट्रीशन ना के बराबर होता है। उसमें शूगर और फैट तो बेहिसाब होता है लेकिन फाइबर, प्रोटीन, विटामिन और मिनरल नहीं होते। जंक फूड बच्चों को बीमार कर रहा है। आज इसी पर होगी चर्चा लेकिन पहले देखते हैं कि सरकार ने क्या नियम बनाए हैं।


स्कूली बच्चों को सुरक्षित और सेहतमंद खाना मिले, इसके लिए FSSAI ने जो गाइडलाइंस तैयार की हैं, उनके लागू हो जाने पर स्कूल की कैंटीन में पिज्जा, बर्गर जैसा जंक फूड नहीं मिलेगा। स्कूल से 50 मीटर के दायरे में भी जंक फूड बैन होगा। इतना ही नहीं स्कूल या उसके आस पास जंक फूड का विज्ञापन लगाना भी बैन होगा। FSSAI ने जंक फूड को HFSS यानि हाई फैट, सॉल्ट एंड शूगर वाले खाने के तौर पर परिभाषित किया है।


बच्चों की सेहत पर जंक फूड के बुरे असर को देखते हुए कोर्ट ने समय समय पर इसके लिए नियम बनाने के निर्देश दिए थे। इसी पर काम करते हुए FSSAI ने अपने ड्राफ्ट गाइडलाइंस में इन नियमों को जगह दी है। सबकुछ ठीक रहा तो दिसंबर से ये नियम लागू हो जाएंगे। लेकिन सफलता सिर्फ नियम बनाने से नहीं उसे सही तरीके से लागू करने से मिलेगी, जिसके लिए जागरुकता सबसे जरूरी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।