Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कश्मीर अपडेट: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की धारा 370 पर तुरंत सुनवाई वाली याचिका

धारा 370 के मुद्दे पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर भारत ने खेद जताया है।
अपडेटेड Aug 09, 2019 पर 09:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

धारा 370 के मुद्दे पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर भारत ने खेद जताया है। विदेश मंत्रालय ने आज बयान जारी कर पाकिस्तान को इस पर पुनर्विचार करने को कहा है ताकि सामान्य राजनयिक रिश्तों को बचाया जा सके। विदेश मंत्रालय ने ये भी कहा है कि धारा 370 हटने पर ऐसी प्रतिक्रिया कोई हैरान करने वाली बात नहीं है क्योंकि पाकिस्तान ने कश्मीर में असंतोष का इस्तेमाल कर सीमा पार आतंकवाद को बढ़ावा दिया है। लेकिन धारा 370 हटाना पूरी तरह से हमारा आंतरिक मामला है। भारत का संविधान हमेशा संप्रभुता का मामला है। क्षेत्र में डर का नजरिया बनाकर इसमें दखलअंदाजी की कोशिश कभी कामयाब नहीं होगी। उधर केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान जैसा पड़ोसी देश होने पर अफसोस जताया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान जैसा पड़ोसी देश परमात्मा किसी को ना दे।


समझौता एक्सप्रेस को रद्द किया गया


वहीं, आज इमरान खान के सहायक ने घोषणा की है कि पाकिस्तानी सिनेमा हॉल भारतीय सिनेमा नहीं दिखाएंगे। साथ ही पाकिस्तान ने लाहौर से दिल्ली के बीच चलने वाली समझौता एक्सप्रेस को रद्द कर दिया है। इधर नए घटनाक्रम में करतारपुर साहिब कॉरिडोर को लेकर भी आशंकाएं जताई जा रही थीं। लेकिन पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने साफ किया है कि पाकिस्तान की तरफ से कॉरिडोर पर काम चलता रहेगा। आपको बता दें कि कल पाकिस्तान ने राजनयिक रिश्ते घटाने और व्यापार संबंध खत्म करने की घोषणा की थी।


गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर हवाई अड्डे पर रोका गया


आज कश्मीर में लोगों से मिलने के इरादे से जा रहे कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर हवाई अड्डे पर रोक दिया गया। उनके साथ जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर भी थे। दोनों को श्रीनगर हवाई अड्डे से नई दिल्ली के लिए वापस लौटा दिया गया। आपको बता दें कि धारा 370 हटाने से पहले से ही जम्मू-कश्मीर में निषेधाज्ञा लगी हुई है। श्रीनगर के लिए निकलने से पहले गुलाम नबी आजाद ने इसपर चिंता जताई थी और कहा था कि वो वहां के लोगों से मिलकर हालात का जायजा लेंगे। कल कश्मीर के शोपियां में NSA अजीत डोवाल ने लोगों के साथ बातचीत की थी और सड़क पर ही खाना खाया था। इसपर गुलाम नबी आजाद ने कहा है कि पैसा देकर किसी को भी साथ लिया जा सकता है।


कांग्रेस नेता करण सिंह ने धारा 370 हटाने के फैसले पर सहमति जताई


जम्मू-कश्मीर राजपरिवार के वारिस और कांग्रेस नेता करण सिंह ने धारा 370 हटाने के फैसले पर सहमति जताई है। आज एक लिखित बयान जारी कर करण सिंह ने कहा है कि इस फैसले का पूरी तरह विरोध करना सही नहीं है। इसमें कई सकारात्मक चीजें भी हैं। लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने का स्वागत किया जाना चाहिए। लिंगभेद करने वाली धारा 35A को हटाने से रिफ्युजियों और SC/ST समुदाय को नागरिकता मिलेगी। इसका स्वागत होगा। राज्य में डिलिमिटेशन होगा और जम्मू और कश्मीर की आवाम के बीच राजनीतिक शक्ति का न्यायपूर्ण बंटवारा होगा। करण सिंह ने कश्मीर के लोगों के साथ राजनीतिक संवाद शुरू करने की पैरवी की है और दोनों क्षेत्रीय पार्टियों  NC और PDP को राष्ट्र विरोधी करार दिए जाने को गलत भी बताया है। और जम्मू-कश्मीर को जितनी जल्दी हो सके पूर्ण राज्य बनाने की मांग की है।


370 पर तुरंत सुनवाई नहीं होगी


सुप्रीम कोर्ट ने धारा 370 पर तुरंत सुनवाई करने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि चीफ जस्टिस रंजन गोगोई इस मामले पर तारीख तय करेंगे। याचिका दायर करने वाले वकील एम एल शर्मा ने कोर्ट से अपील की थी कि 12 या 13 अगस्त को उनकी याचिका पर सुनवाई की जाए लेकिन कोर्ट ने जल्द सुनवाई से इनकार कर दिया है। वहीं कांग्रेस कार्यकर्ता तहसीन पूनावाला ने नेताओं के नजरबंद होने और राज्य में संपर्क स्थापित करने को लेकर याचिका दायर की है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (@moneycontrolhindi) और Twitter (@MoneycontrolH) पर फॉलो करें