Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जानिये क्यों सब्सिडी छोड़ने को तैयार हैं इलेक्ट्रिक टू व्हीलर बनाने वाली कंपनियां

इलेक्ट्रिक टूव्हीलर गाड़ियों को बढ़ावा देने वाली स्कीम कंपनियों का रास नहीं आ रही है।
अपडेटेड Feb 17, 2020 पर 08:23  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इलेक्ट्रिक टू व्हीलर बनाने वाली कंपनियां सब्सिडी छोड़ने को तैयार हैं। एक तो कंपनियों के लिए FAME के दूसरे संस्करण में कड़ी शर्तें और फिर बजट में इंपोर्ट ड्यूटी बढ़ने से कंपनियों के लिए मुश्किलें बढ़ गई हैं। ऐसे में कंपनियां अब ऐसे प्रोडक्ट्स बना रही हैं जो बिना सब्सिडी बाजार में आएंगी।


इलेक्ट्रिक टूव्हीलर गाड़ियों को बढ़ावा देने वाली स्कीम कंपनियों का रास नहीं आ रही है। FAME2 के आने के बाद सब्सिडी वाली सिर्फ 3000 गाड़ियां बिकीं। जबकि बिना सब्सिडी वाली 50,000 गाड़ियां बिकीं। वहीं FAME 2 से पहले सब्सिडी के साथ 48,000 गाड़ियां बिकी थी और बिना सब्सिडी के 10,000। दरअसल लोकलाईजेशन की कड़ी शर्तों ने ईलेक्ट्रिक टू-व्हीलर सब्सिडी के बाद भी गाड़ियों को मंहगा कर दिया है । सबसे बड़ी इलेक्ट्कि टू-व्हीलर कंपनी हीरो अब अपना पूरा प्लान बदल रही हैं।


वैसे इस सेगमेंट में बड़ी संख्या में स्टार्टअप्स और नई कंपनियां उतर रही हैं । ये भी बिना सब्सिडी ही काम करना चाहती हैं। देश में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी बढ़ाने में अब तक टूव्हीलर कंपनियां आगे थीं लेकिन सब्सिडी की कड़ी शर्तों ने उनकी ग्रोथ पर ब्रेक लगा दी है। इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कंपनियों के एसोसिएशन SMEV कहना है कि अगर EV सेक्टर में ग्रोथ चाहिए तो FAME II की कड़ी शर्तों को बदलने की जरूरत है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।