Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जानिये क्यों होगी चीन के कारोबारियों की होली बेरंग और भारतीय कारोबारियों की रंगीन

इस बार होली में आपको चीनी रंग औऱ पिचकारियां नहीं दिखेंगी।
अपडेटेड Feb 16, 2020 पर 16:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इस बार होली में आपको चीनी रंग औऱ पिचकारियां नहीं दिखेंगी। चीन में फेले कोरोना वायरस की वजह से जहां एक तरफ घरेलू रंग निर्माताओं के लिए इस बार मांग ज्यादा है वहीं पिचकारी इस बार मंहगी बिकेगी।


होली करीब है लेकिन बाजार बेरंग है। इन दिनों दिल्ली के बाजार पिचकारी, रंग बिरंगे गुब्बारे, रंग गुलाल से सज जाते हैं लेकिन इस बार ऐसा नहीं है। बाजार सजे तो हैं लेकिन चीनी आइटम गायब हैं। कोरोना वायरस ने दिल्ली के होलसेल मार्केंट सदर बाजार, तिलक बाजार में कारोबारियों के जोश को ठंडा कर दिया है।


होली का रंग फीका ना हो इसके लिए कुछ भारतीय कंपनियां बाजार में डटी हैं। भारतीय रंग गुलाल बाजार में खूब भरे हैं। चीनी आइटम के नहीं आने पर भारतीय सामान की बिक्री बढ़ने की उम्मीद तो है लेकिन थोक बाजार में भी कीमतें 15 से 20 फीसदी ज्यादा हो सकती हैं।


हर बार होली पर बाजार सस्ते चीनी आइटम से पट जाते थे लेकिन इस बार कोरोना की वजह से हालात अलग हैं। ऐसे में मेड इन इंडिया हर्बल रंग और गुलाल का भाव चढ़ा है और आपको इसका मजा लेने के लिए अपनी जेब थोड़ी ज्यादा ढीली करनी पड़ेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।