Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

लक्ष्मी विलास बैंक के स्टॉक्स धड़ाम, तीन दिनों में 50% से अधिक गिरे बैंक के शेयर

लक्ष्मी विलास बैंक को मोरेटोरियम पर रखे जाने और DBS Bank के साथ मर्ज करने का खबर के बाद से शेयर मार्केट में बैंक के शेयर धड़ाम हो गए हैं
अपडेटेड Nov 21, 2020 पर 08:15  |  स्रोत : Moneycontrol.com

केंद्र सरकार द्वारा लक्ष्मी विलास बैंक (Lakshmi Vilas Bank- LVB) को 16 दिसंबर तक मोरेटोरियम पर रखे जाने और इसके डीबीएस बैंक इंडिया (DBS Bank) के साथ मर्ज करने का खबर के बाद से ही शेयर मार्केट में लक्ष्मी विलास बैंक के शेयर धड़ाम हो गए हैं। दरअसल, इस मर्जर के बाद LVB के शेयरहोलडर्स को कुछ भी नहीं मिलेगा, क्योंकि लक्ष्मी विलास बैंक का जो भी पेड अप शेयर कैपिटल (paid-up share capital) यानी कंपनी के कुल शेयर हैं, उन्हें पूरी तरह राइट-ऑफ (Write off) कर दिया जाएगा। इस खबर से शेयरधारकों में बेचैनी है। वे अपने शेयर बेचकर इससे छूटकारा पाना चाहते हैं, लेकिन LVB के शेयरों का कोई खरीदार नहीं मिल रहा है।

पिछले तीन दिनों में शेयर बाजार में LVB के शेयर की कीमतों में 50% से ज्यादा की गिरावट आई है। शुक्रवार को इसके एक शेयर की कीमत 9 रुपये रह गई जो मंगलवार को करीब 16 रुपये थी। बुधवार को बैंक के शेयर की कीमतों में 20%, गुरुवार को 20% और शुक्रवार को इसकी कीमतों में 10% की कमी आई। LVB के शेयरहोल्डर्स और प्रमोटर्स ने RBI से बैंक के विलय के फैसले पर दोबारा विचार करने को कहा है। बैंक के प्रमोटर्स का कहना है कि बैंक के पास इतना कैश है कि जमाकर्ताओं के पूरे पैसे लौटाए जा सकते हैं। अगर RBI अपने फैसले पर पुनर्विचार नहीं करता है तो लक्ष्मी विलास बैंक के प्रमोटर्स और शेयरधारक RBI के फैसले के खिलाफ कोर्ट जाएंगे।

इक्विटी शेयरहोल्डर्स हो जाएंगे बर्बाद

आपको बता दें कि LVB और DBS Bank के मर्जर के लिए RBI ने जो ड्राफ्ट स्कीम तैयार की है, उसके मुताबिक इस विलय के बाद लक्ष्मी विलास बैंक का जो भी पेड अप शेयर कैपिटल (paid-up share capital) यानी मतलब है कंपनी के कुल शेयर है, उसे पूरी तरह राइट-ऑफ (Write off) कर दिया जाएगा। वह पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। इसका घाटा लक्ष्मी विकास बैंक के इक्विटी शेयर होल्डर्स को होगा। RBI ने कहा कि अभी LVB का नेटवर्थ निगेटिव में है। ऐसे में इस विलय से बैंक के इक्विटी शेयर होल्डर्स को कोई पैसा नहीं मिलेगा और बैंक की वैल्यू जीरो मानी जाएगी। RBI ने कहा कि बैंक के पेड अप शेयर कैपिटल और रिजर्व के साथ सरप्लस और सिक्योरिटी प्रीमियर को भी राइट ऑफ (written off) किया जाएगा। 

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।