Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

low base का दिखा असर, मार्च में IIP अच्छी बढ़त के साथ 22.4% पर आई

महीने दर महीने आधार पर मार्च में माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ -5.5 फीसदी से बढ़कर 6.1 फीसदी पर आ गई है.
अपडेटेड May 13, 2021 पर 09:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मार्च महीने में भारत के इंडस्ट्रियल आउटपुट में लो बेस इफेक्ट के चलते 22.4 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिली है। जबकि पिछले महीने यानी फरवरी में इसमें 3.6 फीसदी की गिरावट देखने को मिली थी।


भारत के इंडस्ट्रियल आउटपुट में जनवरी से ही गिरावट देखने को मिल रही थी। जनवरी में IIP में 0.9 फीसदी की गिरावट आई थी। हालांकि इसके पिछले महीने यानी दिसंबर में इसमें 1.6 फीसदी की बढ़त देखने को मिली थी। अनुमान था कि मार्च में IIP ग्रोथ 16.55 फीसदी पर रहेगी।


महीने दर महीने आधार पर मार्च में माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ -5.5 फीसदी से बढ़कर 6.1 फीसदी पर आ गई है। वहीं मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ -3.7 फीसदी से बढ़कर 25.8 फीसदी पर पहुंच गई है।


मार्च में देश के इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर की ग्रोथ फरवरी के 0.1 फीसदी से बढ़कर 22.5 फीसदी पर आ गई है। मार्च में प्राइमरी गुड्स सेक्टर की ग्रोथ फरवरी के -5.1 फीसदी से बढ़कर 7.7 फीसदी पर आ गई है। जबकि इसी अवधि में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ महीने दर महीने आधार पर -4.2 फीसदी से बढ़कर 41.9 फीसदी पर आ गई है।


इंटरमीडिएट गुड्स सेक्टर की ग्रोथ पर नजर डालें तो यह फरवरी के -5.6 फीसदी से बढ़कर 21.2 फीसदी पर आ गई है। जबकि इसी अवधि में इन्फ्रा गुड्स ग्रोथ 4.7 फीसदी से बढ़कर 31.2 फीसदी पर आ गई है। इसी तरह इस अवधि में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ फरवरी के 6.3 फीसदी से बढ़कर 54.9 फीसदी पर आ गई है।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.