Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

इस हफ्ते बाजार लाल निशान में हुआ बंद लेकिन अच्छे नतीजों और वैश्विक संकेतों से कम हुआ नुकसान

बीते हुए हफ्ते में बाजार की मुख्य झलकियां इस प्रकार रहीं।
अपडेटेड Jul 25, 2021 पर 07:51  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय बाजार 23 जुलाई को समाप्त हुए सामान्य रूप से एक छोटे कारोबारी हफ्ते में मामूली नुकसान के साथ बंद हुए। COVID मामलों में वृद्धि के कारण हफ्ते की शुरुआत में बिकवाली हुई, लेकिन अच्छे नतीजों और सकारात्मक वैश्विक संकेतों ने नुकसान को सीमित कर दिया। पिछले हफ्ते में बाजार की प्रमुख झलकियां इस प्रकार रहीं।


पिछले हफ्ते बीएसई सेंसेक्स 164.26 अंक (-0.30 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 52,975.8 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी50  67.4 अंक (-0.42 प्रतिशत) की गिरावट के साथ 15,856 के स्तर पर बंद हुआ। पिछले हफ्ते बीएसई सेंसेक्स 0.3 प्रतिशत और निफ्टी50 0.42 प्रतिशत कमजोर होकर बंद हुआ था।


साप्ताहिक आधार पर BSE Midcap Index में 0.47 प्रतिशत की गिरावट रही। JSW Energy, Jubilant Foodworks, CRISIL, ACC और GlaxoSmithKline Pharmaceuticals मुख्य गेनर्स रहे जबकि Vodafone Idea, L&T Finance Holdings, GMR Infrastructure और Motilal Oswal Financial Services प्रमुख लूजर्स रहे।


पिछले हफ्ते BSE Largecap Index में 0.4 प्रतिशत की गिरावट रही। Indus Towers, Tata Motors - DVR, HDFC Asset Management Company और General Insurance Corporation of India लूजर्स रहे जिनमें 6 से 8 प्रतिशत की गिरावट देखने को मिली। वहीं Havells India, Ambuja Cements, Wipro, Bajaj Finserv और Hindustan Petroleum Corporation मुख्य गेनर्स साबित हुए।


BSE Small-cap index सपाट बंद हुआ लेकिन Jindal Stainless, Usha Martin, Schaeffler India, Brightcom Group और Ramco Industries में 20 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोत्तरी दर्ज हुई जबकि Newgen Software Technologies, SREI Infrastructure Finance, Shakti Pumps (India), Camlin Fine Sciences, Mahindra EPC Irrigation और Reliance Communications में 10 प्रतिशत से ज्यादा की गिराटव दर्ज की गई।


बीते हफ्ते BSE Sensex पर HDFC Bank की मार्केट वैल्यू में सबसे ज्यादा गिरावट आई और इसके बाद Hindustan Unilever, Housing Development Finance Corporation और Kotak Mahindra Bank की मार्केट वैल्यू में सबसे ज्यादा गिरावट रही। वहीं दूसरी तरफ Infosys, ICICI Bank और Asian Paints की मार्केट वैल्यू में सबसे ज्यादा इजाफा दर्ज हुआ।


सेक्टोरल इंडेक्स पर नजर डालें तो Nifty Media में 2.6 प्रतिशत की गिरावट रही। Nifty Auto और Bank index दोनों में 2-2 प्रतिशत की कमजोरी रही जबकि Nifty IT और Realty indices में 0.8 से 1.6 प्रतिशत की बढ़त देखने को मिली।


पिछले हफ्ते विदेशी संस्थागत निवेशकों (foreign institutional investors (FIIs) ने 5,444.57 करोड़ रुपये के शेयर्स बेचें जबकि घरेलू संस्थाग निवेशकों (domestic institutional investors (DIIs) ने 5,051.15 करोड़ रुपये के शेयर्स खरीदे। वहीं जुलाई महीने में अब तक FIIs ने 12,368.18 करोड़ रुपये के शेयर्स बेचें हैं जबकि DIIs ने 10,187.60 करोड़ रुपये के शेयर्स खरीदे हैं।


पिछले हफ्ते में भारतीय रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले मजबूत हुआ। यह 23 जुलाई को 19 पैसे की मजबूती के साथ 74.40 पर बंद हुआ, जबकि 16 जुलाई को यह 74.59 पर बंद हुआ था।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।