Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

अमेरिका-चीन के बीच दोबारा बातचीत शुरू होने की उम्मीद से 800 अंक चढ़कर बंद हुआ सेंसेक्स

सेंसेक्स और निफ्टी की शुरुआत तो आज जोरदार तेजी के साथ हुई लेकिन कारोबार के आगे बढ़ने के साथ भारतीय बाजारों ने अपनी पूरी बढ़त गवा दी है।
अपडेटेड Aug 27, 2019 पर 08:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

03:30 PM


बाजार में आज जोरदार तेजी का दिन रहा। अमेरिका-चीन के बीच दोबारा बातचीत शुरू होने की उम्मीद से सेंसेक्स आज 800 अंक चढ़कर बंद हुआ। वहीं निफ्टी भी 11000 के पार टिकने में कामयाब रहा। बैंक शेयरों में जोरदार खरीदारी के दम पर बैंक निफ्टी में भी 1000 अंकों की बढ़त देखने को मिली।


मिड और स्मॉल कैप शेयरों के लिए भी आज का दिन अच्छा रहा। बीएसई का मिड कैप इंडेक्स 1.57 फीसदी और स्मॉल कैप इंडेक्स 1.65 फीसदी बढ़कर बंद हुआ है। तेल-गैस शेयरों से भी बाजार को सहारा मिला। बीएसई का ऑयल एंड गैस इंडेक्स 1.5 फीसदी की बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहा।


बैंकिंग शेयरों में जोरदार खरीद के दम पर बैंक निफ्टी 0.56 फीसदी की बढ़त के साथ 27110 के स्तर पर बंद होने में कामयाब रहा है। निफ्टी के पीएसयू बैंक इंडेक्स में आज 1.88 फीसदी और प्राइवेट बैंक इंडेक्स में 1.24 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है।


कारोबार के अंत में सेंसेक्स 792.96 अंक यानी 2.16 फीसदी की बढ़त के साथ 37494.12 के स्तर पर बंद हुआ है। वहीं निफ्टी 228.50 अंक यानी 2.11 फीसदी की मजबूती के साथ 11057.85 के स्तर पर बंद हुआ है। 


02:30 PM



अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर बढ़ने का असर चाइनीज करेंसी युआन पर साफ नजर आ रहा है। सोमवार को डॉलर के मुकाबले युआन गिरकर 11 साल के निचले स्तर पर आ गया है। इससे दुनिया की दो बड़ी इकोनॉमी को नुकसान हो रहा है और इसका असर ग्लोबल ग्रोथ पर भी देखने को मिल सकता है।


हॉन्गकॉन्ग में सरकार विरोधी प्रदर्शन से चाइनीज शेयर बाजार पर प्रेशर और बढ़ गया है। सोमवार को डॉलर के मुकाबले युआन 0.6 फीसदी गिरकर 7.15 रुपए प्रति डॉलर पर आ गया। फरवरी 2008 के बाद यह युआन का सबसे निचला स्तर है।


01:30 PM


ट्रेड वॉर पर चीन के विदेश मंत्रालय का बयान आया है जिसमें कहा गया है कि US के दबाव पर चीन नहीं झुकेगा। चीन अपने हितों की रक्षा करता रहेगा। ट्रेड वॉर से बाजार में उथल-पुथल संभव है। जरूरत पड़ी तो US की जगह दूसरे ट्रेड पार्टनर पर विचार किया जाएगा।


01:00 PM


अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बयान के बाद बाजारों में रिकवरी आई है। ट्रंप ने कहा है कि चीन ट्रेड पर फिर से बातचीत चाहता है। इस खबर के बाद निफ्टी 11000 के करीब पहुंच गया, डाओ फ्यूचर में भी निचले स्तरों से शानदार रिकवरी देखने को मिली है।


ट्रंप के बयान ने मेटल शेयरों को भी सहारा दिया है। हालांकि निफ्टी मेटल अभी भी करीब 1 फीसदी नीचे है। लेकिन वेदांता, टाटा स्टील, JSW स्टील नीचे से करीब 3 फीसदी सुधरे हैं। हालांकि ऑटो शेयरों में मुनाफावसूली देखने को मिल रही है। निफ्टी ऑटो इंडेक्स दिन के ऊपरी स्तर से साढ़े 4 फीसदी फिसल गया है। TATA MOTORS एक हफ्ते में 10  फीसदी फिसला है।


12:15 PM


कसिनो चेन ऑपरेटर Delta Corp के शेयर सोमवार को इंट्राडे में 10.1 फीसदी तक चढ़कर 163 रुपए पर पहुंच गए। पिछले तीन महीनों में यह कंपनी के शेयरों में सबसे बड़ी तेजी है।


11:45 AM


फार्मा कंपनी Unichem के शेयर सोमवार को इंट्राडे में 3.4 फीसदी गिरकर 170.10 रुपए पर आ गए हैं। यह तीन हफ्ते के निचले लेवल पर आ गया है। इससे पहले अमेरिकी फूड रेगुलेटर ने कंपनी के गाजियाबाद फैसिलिटी में सिर्फ एक ऑब्जर्वेशन जारी किया है।


11:10 AM


देश की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी IndiGO के शेयर सोमवार को 2.6 फीसदी चढ़कर 1687.95 रुपए पर आ गए। यह पिछले दो महीने का सबसे हाइएस्ट लेवल है। इससे पहले कंपनी के को-फाउंडर्स में से एक राकेश गंगवाल ने ऐलान किया था कि वह आज होने वाली शेयरहोल्डर मीटिंग में कंपनी के प्रस्ताव का सपोर्ट करेंगे।


10:45 AM


Tata Steel के शेयर 6.40 फीसदी गिरकर 323.15 रुपए पर आ गया। जुलाई 2016 के बाद यह शेयरों का सबसे निचला स्तर है।


10:30 AM


भले ही सरकार ने बड़े बूस्टर डोज का एलान किया है। लेकिन ग्लोबल मार्केट में खबर अच्छी नहीं है। चीन अमेरिका में ट्रेड वॉर और भड़क गया है। अमेरिका ने भी चीन के उत्पादों पर ड्यूटी बढ़ाने का एलान कर दिया। अमेरिका ने चीन के 250 अरब डॉलर के उत्पादों पर ड्यूटी 25 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी कर दी। इसके साथ ही 300 अरब डॉलर के उत्पादों पर ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी। बढ़ी हुई ड्यूटी 1 अक्टूबर से लागू होगी।


10:10 AM


बाजार में गिरावट बढ़ गई है। बैंक निफ्टी ने पूरी बढ़त गंवा दी है। बैंक निफ्टी ऊपर से करीब 750 प्वाइंट गिरा है। वहीं, निफ्टी ऊपर से करीब 230 प्वाइंट फिसला है। सेंसेक्स ऊपर से करीब 820 प्वाइंट फिसल गया है। मेटल शेयरों में भारी बिकवाली देखने को मिल रही है। मेटल इंडेक्स 3 साल के निचले स्तर पर नजर आ रहा है।


10:00 AM


एशियाई बाजारों में आज कमजोर कारोबार देखने को मिल रहा है। हालांकि SGX NIFTY में 0.70 फीसदी की बढ़त के साथ कारोबार होता दिख रहा है। उधर भले ही सरकार ने बड़े बूस्टर डोज का एलान किया है। लेकिन ग्लोबल मार्केट में खबर अच्छी नहीं है। चीन अमेरिका में ट्रेड वॉर और भड़क गया है। अमेरिका ने भी चीन के उत्पादों पर ड्यूटी बढ़ाने का एलान कर दिया। अमेरिका ने चीन के 250 अरब डॉलर के उत्पादों पर ड्यूटी 25 फीसदी से बढ़ाकर 30 फीसदी कर दी। इसके साथ ही 300 अरब डॉलर के उत्पादों पर ड्यूटी 10 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी। बढ़ी हुई ड्यूटी 1 अक्टूबर से लागू होगी। अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने ये भी कहा कि जरूरत पड़ी तो अमेरिका में इमरजेंसी घोषित कर देंगे। हालांकि अभी इसकी जरूरत नहीं दिख रही है। 


इन ग्लोबल संकेतों के बीच सेंसेक्स और निफ्टी की शुरुआत तो आज जोरदार तेजी के साथ हुई लेकिन कारोबार के आगे बढ़ने के साथ भारतीय बाजारों ने अपनी पूरी बढ़त गवा दी है। सेंसेक्स फिलहाल करीब 50 अंक की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है वहीं निफ्टी 5 अंक की कमजोरी के साथ लाल निशान में दिख रहा है।


मिड कैप शेयरों में भी सुस्ती नजर आ रही है। बीएसई का मिड कैप इंडेक्स 0.07 फीसदी की मामूली बढ़त दिखा रहा है। वहीं स्मॉल कैप इंडेक्स में हल्की खरीदारी है और ये 0.22 फीसदी की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। तेल- गैस शेयरों पर भी दबाव है। बीएसई का ऑयल एंड गैस इंडेक्स 0.71 फीसदी की कमजोरी के साथ कारोबार कर रहा है।


बैंकिंग शेयरों में खरीदारी देखने को मिल रही है। पीएसयू बैंकों के लिए राहत की खबर आने का असर देखने को मिल रहा है। निफ्टी का पीएसयू बैंक इंडेक्स 2.22 फीसदी और प्राइवेट बैंक इंडेक्स 0.33 फीसदी की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन की घोषणाओं का असर एनबीएफसी, बैंकिंग और रियल्टी शेयरों पर देखने को मिल रहा है लेकिन ऑटो शेयरों में कमजोरी नजर आ रही है। निफ्टी का ऑटो इंडेक्स 0.71 फीसदी टूटकर कारोबार कर रहा है।


फिलहाल सेंसेक्स करीब 18 अंक यानी 0.05 फीसदी की मामूली बढ़त के साथ 36720 के आसपास कारोबार कर रहा है। वहीं निफ्टी 10 अंकों यानी 0.09 फीसदी की कमजोरी के साथ 10820 के नीचे नजर आ रहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।