विदेश में एमबीबीएस करना होगा मुश्किल -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

विदेश में एमबीबीएस करना होगा मुश्किल

प्रकाशित Fri, 09, 2018 पर 16:11  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पढ़ाई में कमजोर छात्र अब सिर्फ पैसे के दम पर विदेश में मेडिकल की डिग्री लेने नहीं जा पाएंगे। सरकार ऐसे स्टूडेंट पर सख्ती करने जा रही है। सीएनबीसी-आवाज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक सरकार ने विदेशी मेडिकल संस्थानों में दाखिले के लिए नई शर्तें रख दी है।


सूत्रों के मुताबिक अब विदेश से एमबीबीएस के लिए भी एनईईटी जरुरी किया जायेगा। विदेशी मेडिकल संस्थानों में दाखिले के लिए नई शर्तें अगले सत्र से लागू हो सकती हैं। एनईईटी पास करने पर ही एमसीआई का ईसी सर्टिफिकेट मिलेगा। एनईईटी क्वालीफाई करने के लिए 50 फीसदी जरूरी है।


अब बिना ईसी के विदेश में दाखिला मुश्किल है। साथ ही ईसी सर्टिफिकेट के बिना भारत में प्रैक्टिस की इजाजत नहीं होगी। नए शर्तों के अनुसार अब प्रैक्टिस के लिए फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट एग्जाम यानि एफएमजीई पास करना अनिवार्य होगा। बता दें कि सालाना 11.5 लाख छात्र एनईईटी का फॉर्म भरते हैं, लेकिन  6 लाख बच्चे एनईईटी पास करते हैं जबकि डेंटल और एमबीबीएस मिलाकर सिर्फ 63,800 सीट होती है। वहीं 30 हजार छात्र एमबीबीएस  करने विदेश जाते हैं जबकि 14 हजार विदेशी डिग्री धारक एफएमजीई में बैठते हैं।