Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

अहम खबरें: शाहीन बाग पर मध्यस्थ नियुक्त, जामिया हिंसा पर वीडियो वॉर

24 फरवरी को ट्रंप अमेरिका से सीधा अहमदाबाद आएंगे। रोड शो के लिए 10,000 पुलिस कर्मी तैनात किए जाएंगे।
अपडेटेड Feb 18, 2020 पर 09:05  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

24 फरवरी को ट्रंप अमेरिका से सीधा अहमदाबाद आएंगे


24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप अपनी पत्नी के साथ अहमदाबाद आएंगे। अहमदाबाद एयरपोर्ट पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्रंप का स्वागत करेंगे। ट्रंप के भारत दौरे को लेकर अहमदाबाद में सुरक्षा चाक चौबंद है। 24 फरवरी को ट्रंप अमेरिका से सीधा अहमदाबाद आएंगे। रोड शो के लिए 10,000 पुलिस कर्मी तैनात किए जाएंगे। स्टेडियम और आसपास के इलाके में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। स्टेज का 50 मीटर का इलाका अमेरिकी एजेंसी के हवाले रहेगा। स्टेडियम मे निमंत्रण कार्ड के साथ खास पास से ही एंट्री होगी। सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए। 100 फ्लाइट्स को डाइवर्ट और कैंसिल किया गया है।


बातचीत से निकलेगा शाहीन बाग का रास्ता, सुप्रीम कोर्ट ने नियुक्त किए मध्यस्थ


शाहीन बाग का रास्ता अब क्या बातचीत से निकल पाएगा। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सोमवार को शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में चल रहे प्रदर्शन को लेकर डाली गई याचिका पर सुनवाई करते हुए कहा कि लोगों को विरोध करने का अधिकार है लेकिन इसके लिए किसी रोड को अनिश्चिकाल के लिए बंद करके नहीं रख सकते। कोर्ट ने प्रदर्शनकारियों को अपना प्रदर्शन किसी दूसरी जगह पर शिफ्ट करने का विकल्प दिया है। कोर्ट ने इस संबंध में प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने के लिए मध्यस्थ चुना है।


कोर्ट ने सीनियर वकील संजय हेगड़े और एडवोकेट साधना रामचंद्रन को प्रोटेस्टर्स से मिलकर उनसे बात करने को कहा है। वहीं, कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से प्रदर्शनकारियों को कोई दूसरी जगह का सुझाव देने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस, दिल्ली सरकार और केंद्र सरकार को भी बात करने के लिए कहा है। कोर्ट ने ये कहा कि हमेशा के लिए किसी रास्ते को रोका नहीं जा सकता है। अगर दूसरे लोग भी सड़क पर इसी तरह से उतरने लगे तो आखिर क्या होगा?


सेना को स्थायी कमीशन SC से मंजूर, सरकार के तर्क को सुप्रीम कोर्ट ने बताया गलत


सेना में महिलाओं को परमानेंट कमीशन के लिए आज एक बड़ी खबर है। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को कहा है कि वो महिलाओं को परमानेंट कमांड दे। सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को फटकार भी लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि महिलाओं को लेकर जो तर्क सरकार दे रही है वो गलत है। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि सही ट्रेनिंग से कोई भी किसी काम को अंजाम दे सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि महिलाएं पहले भी देश का मान कई मौकों पर बढ़ा चुकी हैं। ऐसे में मानसिकता बदलने की जरूरत है।  सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार 3 महीने के भीतर इस आदेश को लागू करे।


जामिया हिंसा पर वीडियो वॉर, कांग्रेस ने उठाए पुलिस कार्रवाई पर सवाल, BJP ने की दिल्ली पुलिस की प्रशंसा


दिसंबर में जामिया यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा पर वीडियो वॉर छिड़ गया है। पहले जामिया कॉर्डिनेशन कमिटी ने एक वीडियो जारी किया जिसमें पुलिस लाइब्रेरी के अंदर घुसकर बर्बरता से छात्रों को पीट रही है। इसके जवाब में दिल्ली पुलिस ने दो वीडियो जारी किए। एक वीडियो में दिख रहा है कि कुछ छात्र अपने आपको छुपाने के लिए लाइब्रेरी के अंदर आ रहे हैं। वहीं दूसरे वीडियो में छात्रों के हाथ में पत्थर दिख रहे हैं।


वायरल वीडियो पर बीजेपी कांग्रेस के बीच जुबानी जंग भी छिड़ गई है। कांग्रेस ने छात्रों पर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठा दिए हैं। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा है कि 15 दिसंबर का जो टेप सामने आया है उससे ये साफ दिखता है कि पुलिस बेरहमी के साथ बच्चों को मार रही है। इसी पुलिस ने पहले बयान दिया कि हम तो लाइब्रेरी में गए ही नहीं। जाहिर है कि पुलिस झूठ बोल रही थी। अगर कोई और हिंसा को अपनाता है तो उसके खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए।


उधर जामिया की लाइब्रेरी में घुसकर छात्रों की पिटाई करने पर BJP प्रवक्ता GVL नरसिम्‍हा राव ने दिल्ली पुलिस की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन में पेट्रोल बम और शॉटगन का इस्तेमाल करने वाले छात्र नहीं हो सकते।


मझगांव स्थित GST भवन में आग पर काबू, घटना में किसी के हताहत होने की खबर नहीं


मुंबई के मझगांव स्थित GST भवन के 8वें फ्लोर पर आज दोपहर भीषण आग लग गई। हालांकि इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। इमारत में काम करने वाले सभी कर्मचारियों को वक्त रहते सुरक्षित निकाल लिया गया। घटना के दौरान मौके पर पहुंच कर दमकल विभाग की 15 गाड़ियों ने आग पर काबू पा लिया। आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा है।


CORONA EFECT: मीट, फिश और पोल्ट्री दुकानों की होगी रेटिंग


कोरोना वायरस के खतरे के बाद भारत ने अपने मीट और पॉलट्री से जुड़े बिजनेस की हाइजिन को लेकर सतर्कता बरतने का फैसला लिया है। अब से मीट, फिश और पॉलट्री से जुड़ी दुकानों के हाइजिन की रेटिंग होगी। फूड रेगुलेटर FSSAI एक प्रोटोकॉल लेकर आने वाला है जिसमें साफ सफाई से जुड़े मानक होंगे। ऐसा माना जा रहा है कि चीन में फैला कोरोना वायरस जानवरों से मनुष्यों में आया है इसी को ध्यान में रखकर ये कदम उठाए जा रहे हैं। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।