Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

गरीबों के लिए अन्न और धन दोनों की मदद, Corona Warriors के लिए मेडिकल इंश्योरेंस

आज FM की प्रेस कांफ्रेंस में कोरोना प्रभावितों के लिए 1.7 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की गई
अपडेटेड Mar 27, 2020 पर 09:42  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आज FM की प्रेस कांफ्रेंस में  कोरोना प्रभावितों के लिए 1.7 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की छोषणा की गई। पैकेज में किसान, दिहाड़ी मजदूर, SME सेक्टर को बड़ी राहत दी गई है। प्रेस कांफ्रेंस में  एफएम ने बताया कि इस पैकेज से उज्जवला योजना की 8 करोड़ महिलाओं को फायदा होगा। 3 महीने तक उज्जवला लाभार्थियों को  सिलिंडर फ्री मिलेगा। 3 माह तक महिला जनधन अकाउंट में 500 रुपए प्रति माह डाले जाएंगे। साथ ही गरीब बुजुर्गों को 1000 रुपये प्रति माह  की मदद की जाएगी। DBT से दिव्यांगों और बुजुर्गों की मदद की जाएगी। 


एफएम ने ये भी एलान किया कि मनरेगा की मजदूरी 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये कर दी गई है। मनरेगा की किस्त से 5 करोड़ परिवारों को फायदा होगा। अप्रैल में किसानों के खाते में 2000 रुपये  की किस्त डाली जाएगी। किसान सम्मान की किस्त तुरंत किसानों को देंगे।


सरकार की तरफ से गरीबों को 3 माह के लिए 1 kg/माह अतिरिक्त दाल मिलेगी। प्रति माह 5kg गेहूं, चावल अतिरिक्त मिलेगा। 3 महीने के लिए गरीबों को मुफ्त गेहूं, चावल मिलेगा। अतिरिक्त अनाज के लिए कोई रकम नहीं ली जाएगी। गरीबों के लिए अन्न और धन दोनों की मदद की जाएगी।



वित्त मंत्री ने बताया Corona Warriors के लिए मेडिकल इंश्योरेंस का प्रावधान किया गया है। Corona Warriors को 50 लाख/ व्यक्ति के हिसाब से हेल्थ कवर मिलेगा। कोरोना टेस्ट में जिला मिनिरल फंड का इस्तेमाल किया जाएगा। निर्माण कार्य मजदूरों को वेलफेयर फंड से मदद दी जाएगी। 100 कर्मचारियों वाली कंपनी के लिए EPF लाभ मिलेगा।  
एफएम  ने ऑर्गेनाइज्ड सेक्टर के लिए भी खास एलान लिए हैं। जिसके मुताबिक केंद्र सरकार अगले तीन महीने तक कंपनी और कर्मचारियों की तरफ से 12 फीसदी + 12 फीसदी EPFO में डालेगी करेगी। इसका फायदा सिर्फ उन्हीं कंपनियों को मिलेगा जिनके पास 100 से कम कर्मचारी होंगे और 90 फीसदी कर्मचारियों की सैलरी 15,000 रुपए से कम होगी। इससे ऑर्गेनाइज्ड सेक्टरके 80 लाख से ज्यादा कर्मचारियों और 4 लाख से ज्यादा संस्थाओं को इसका फायदा मिलेगा।




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।