Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने Covid-19 से निपटने के तरीके सुझाने के लिए लॉन्च किया 'समाधान' चैलेंज

कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति सुझाने के लिए समाधान नाम से एक ऑनलाइन चैलेंज शुरु किया है।
अपडेटेड Apr 09, 2020 पर 10:57  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के इनोवेशन सेल ने देश में कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति सुझाने के लिए समाधान नाम से एक ऑनलाइन चैलेंज शुरु किया है। बता दें कि अभी तक भारत में 4700 लोग कोरोना के संक्रमण से ग्रस्त हो चुके हैं।


इस चैलेंज में स्टूडेंट, शिक्षक, शोधकर्ता, इनोवेटर और स्टार्टअप शामिल हो सकते हैं। चैलेंज में भाग लेने के लिए आवेदन करने की अंतिम तीथि 14 अप्रैल है।


एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने 7 अप्रैल को ट्विटर पर कहा कि कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए आपके विचार और आइडिया फोर्स मल्टीप्लायर का काम कर सकते हैं। मेरा निवेदन है कि समाधान चैलेंज में भाग लेकर कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई में भागीदारी करने के लिए आगे आएं।


इस मेगा ऑनलाइन चैलेंज के दो हिस्से हैं


पहले हिस्से के तहत इसमें यूट्यूब वीडियो लिंक के फॉर्म में इनोवेटर्स, रिसर्चस, शिक्षकों और स्टार्टअप्स को अपने आइडिया( डिजाइन- सिमुलेशन) शेयर करने होंगे। इसमें कोविड महामारी से निपटने के तरीकों का विवरण होगा। इस तरह के वीडियो लिंक में से 200 कंस्पेंट एप्लीकेशन को 17 अप्रैल के शाम 8 बजे तक पहले राउंड के लिए शॉर्टलिस्ट किया जायेगा।


विनिंग एंट्री को चुनने का मानक यह होगा कि उस कंसेप्ट को कितने लोग पसंद करते हैं। इसके अलावा इनका चुनाव करते समय मूल्यांकन के  दौरान इन वीडियोज को मिले लाइक्स और व्यू की संख्या को भी ध्यान में रखा जायेगा लेकिन अंतिम निर्णय ऑर्गेनाइजर का होगा।


शॉर्ट लिस्ट की गई टॉप 200 एंट्रीज को 18 अप्रैल तक वीडियो फार्म में अपना इम्प्रूव्ड कन्सपेंट सबमिट करना होगा। उसके बाद ऑर्गेनाइजर  सभी भागीदारों को उनके इम्प्रूव्ड  कॉन्सपेंट  वीडियो का यूट्यूब लिंक ई-मेल के जरिए भेजगा जिसको 21 अप्रैल तक पब्लिक में शेयर किया जायेगा।


 
दूसरे राउंड में जाने वाले भागीदारों की लिस्ट 22 अप्रैल को जारी की जायेगी। इस प्रक्रिया से चुनीं गई टॉप 20 टीम दूसरे राउंड में जायेगी।  जिसमें उनको 23 अप्रैल तक अपने फाइनल कॉन्सपेंट वीडियो के साथ एक प्रजेनटेंशन देना होगा।


इसमे से भी टॉप 20 टीम तीसरे राउंड में जाएंगी जहां उनके आइडिया का मूल्याकंन एक बड़ी ऑनलाइन ज्यूरी करेगी। इस  मूल्याकंन के बाद 26 अप्रैल को 3 विजेताओं की घोषणा की जायेगी।


इस चैलेंज के दूसरे भाग में स्टूडेंट इन्वेटर्स, रिसर्चर, शिक्षकों और स्टार्टअप्स के सामने टेक्नोलॉजिकली एडवांस सल्यूंश के वर्किंग प्रोटोटाइप बनाने का चैलेंज रखा जायेगा और ये प्रोटोटाइप तैयार करके मंजूर कराना होगा। फिर उस मंजूर डिजाइन का वर्किंग मॉडल तैयार करना होगा। यह वर्किंग मॉडल ऐसा होना चाहिए जिसको कोरोना वायरस महामारी और इस तरह की अन्य आपदायों से निपटने के लिए तुरंत उपलब्ध कराया जा सके।


मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने सभी भागीदारों से कहा है कि वो ऑनलाइन तरीके से अपने आइडियाज सबमिट करने के बाद ट्वीट करके इसकी जानकारी दें। समाधान चैलेंज में भाग लेने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय के इनोवेशन सेल की वेबसाइट पर जाना होगा और उस कैटिगरी का चुनाव करना होगा जिसमें आप भाग लेना चाहते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।