Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

मुंबई में Mahim Beach Clean Up मिशन, सफाई के सिपाही को सलाम

माहिम बीच कुछ साल पहले तक कूड़े का ढेर था। कचरे ने समंदर के किनारे को एक तरह से निगल लिया था।
अपडेटेड Jan 26, 2020 पर 14:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कहते हैं कि हौसला हो तो बड़ी से बड़ी मुश्किल आसान हो जाती है। यही कर दिखाया है मुंबई के एक कपल ने। इन्होंने मुंबई की माहिम बीच को साफ करने का बीड़ा खुद उठाया और फिर उनका मिशन Mahim Beach Clean Up सिटिजन मूवमेंट बनता जा रहा है। करीब 800 टन से ज्यादा कचरा हट गया है।


नन्हा मुन्हा राही हूं साफ-सफाई का सिपाही हूं, जी हां मुंबई के माहिम बीच की गंदगी हटाते बच्चे सफाई के सिपाही हैं। CATHEDRAL & JOHN CONON INFANT SCHOOL के बच्चे किसी प्रोजेक्ट के लिए यहां नहीं आए हैं। ये सिर्फ बीच की सफाई के लिए आए हैं। इन बच्चों के पेरेंट्स भी बीच क्लीनअप इनीशिएटिव में जुटे हैं।


माहिम बीच कुछ साल पहले तक कूड़े का ढेर था। कचरे ने समंदर के किनारे को एक तरह से निगल लिया था। ये बीच कम और डंपिंग ग्राउंड ज्यादा लगता था। यहां जब राबिया और इंद्रनील रहने आए तो बदबू और गंदगी से सांस लेना भी मुश्किल था।


गंदगी और कचरे की इस तस्वीर को बदलने के लिए राबिया और इंद्रनील ने पहले BMC से गुजारिश की। लेकिन उनको जल्द समझ में आ गया कि BMC भरोसे रहना काफी नहीं है। इसलिए इंद्रनील और राबिया ने खुद पहल की और फिर साफ सफाई का कारवां जुड़ता गया। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से बीच क्लीन इनीशिएटिव को लेकर अवेयरनेस फैलाई जा रही है। लोग इससे जुड़ भी रहे हैं।


जहां चाह वहां राह माहिम क्लीन इनीशिएटिव की सक्सेस स्टोरी भी कुछ ऐसी ही है। 2 साल पहले कचरे के ढेर में बीच को खोजना मुश्किल था लेकिन एक छोटी से कोशिश से माहिम बीच की सूरत बदल गई है।


हम अक्सर सिविक अथॉरिटीज और सरकार को साफ़ सफ़ाई में हो रही लापरवाही के लिए दोष देते हैं पर 2017 में शुरू की गयी इस छोटी सी सिटिज़ेन लेड इनिशटिव ने जिस तरह से इस 1000 मीटर तक फैली महिम बीच की रूपरेखा को बदला हैं वो इस बात की मिसल भी बन गया हैं कि बदलाव सिर्फ़ किसी बड़ी सरकारी योजना की मोहताज नहीं।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।