Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

लॉकडाउन के बाद मोबाइल की बहार, ग्राहकों को लुभाने के लिए कंपनियां कर रही है ढरों ऑफर्स तैयार

एक तरफ देश में नए मोबाइल बेचने की तैयारी हो रही है तो दूसरी तरफ लॉकडाउन की वजह से करीब 2.5 करोड़ मोबाइल ठीक होने का रास्ता देख रहे हैं।
अपडेटेड May 13, 2020 पर 11:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एक तरफ देश में नए मोबाइल बेचने की तैयारी हो रही है तो दूसरी तरफ लॉकडाउन की वजह से करीब 2.5 करोड़ मोबाइल ठीक होने का रास्ता देख रहे हैं। लॉकडाउन में सर्विस सेंटर बंद होने की वजह से खराब मोबाइल ठीक नहीं हो पा रहे हैं और मई के आखिर तर इनकी तादात करीब 4 करोड़ तक पहुंच सकती है। मोबाइल खराब होने के चलते बहुत से ऐसे लोग ज्यादा परेशान है जो जरूरी सेवाओं में काम कर रहे हैं। साथ ही जानेगे कि अगर आप नया मोबाइल खरीदने का प्लान बना रहे होंगे। तो अब देख लेते हैं कि मोबाइल मार्केट में किस तरह की तैयारियां चल रही हैं।


लॉकडाउन के बाद एक बार फिर मोबाइल फोन मार्केट चमकेगा। कंपनियां अभी से मोबाइल फोन के जोरदार बिक्री की तैयारी कर रही है जिसके चलते ढेर सारे डिस्काउंट और ऑफर आने की उम्मीद है। ग्राहकों को एक्सचेंज, कैशबैक और फ्री इंश्योरेंस के ऑफर भी मिलेंगे। फिलहाल कंपनियों का फोकस ऑनलाइन बिक्री और 24 घंटे डिलिवरी पर रहेगा।  लॉकडाउन की वजह से सेल 5% तक गिरने की आशंका है।


डिजिटल लॉन्च का ट्रेंड बढ़ा


Real Me ने Narzo10 और Narzo10A लॉन्च किया है। Xiaomi ने MI 10 का डिजिटल लॉन्च किया है। वहीं  Vivo ने भी V19 प्रो लॉन्च कर दिया है।


रिपेयरिंग के इंतजार में 2.5 करोड़ मोबाइल


इधर देश भर में लागू लॉकडाउन के वजह से देश में करीब  2.5 करोड़ मोबाइल इस वक्त खराब है जो रिपेयरिंग के लिए इंतजार कर रहे है। भारत में इस वक्त करीब 85 करोड़ मोबाइल है। बता दें कि भारत में  हर महीने करीब 2.5 करोड़ फोन बिकते हैं। ज्यादातर खरीदारी फोन बदलने के तौर पर होती है। लॉकडाउन के चलते बिक्री और रिपेयर दोनो बंद हुआ है। जरूरी सेवाओं में रखने के बाद भी रिपेयर शॉप बंद है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।