Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

मोदी 2.0: अहम मंत्रालयों का 100 दिन का प्लान तैयार

प्रकाशित Fri, 24, 2019 पर 13:32  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नई सरकार के लिए अहम मंत्रालयों ने पहले ही अपने 100 दिन के प्लान तैयार कर लिए हैं। वित्त, बिजली और हाउसिंग मंत्रालय के 100 दिन के एजेंडे में क्या खास हो सकता है आइए जानते हैं।


वित्त मंत्रालय का 100 का एजेंडा


बाजार में डिमांड बढ़ाने पर फोकस होगा। निजी निवेश बढ़ाने पर जोर होगा। इनकम टैक्स की दरों में बदलाव की भी संभावना है। टैक्स का बोझ कम होसकता है, दायरा बढ़ाने पर फोकस होगा। कॉरपोरेट टैक्स में भी बदलाव करने पर विचार किया जाएगा। GST के नियमों को आसान करने पर फोकस होगा। सरकारी कंपनियों के विनिवेश में तेजी लाई जाएगी। बैंकों के एक दौर का मर्जर जल्द किया जा सकता है।


वाणिज्य मंत्रालय का एजेंडा


निर्यात और स्टार्टअप्स को बढ़ावा देने पर ज़ोर होगा। निर्यात को प्रोत्साहन देने के लिए नई योजना आ सकती है। ये नई योजना MEIS की जगह लेगी। रोजगार पैदा करने वाली नीतियों पर खास जोर होगा। लॉजिस्टिक्स विभाग बनाने का भी प्रस्ताव है। नेशनल लॉजिस्टिक्स पोर्टल जल्द लांच करने की तैयारी है। स्टार्टअप को फंडिंग और टैक्स में राहत देने की कोशिश की जा सकती है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस बढ़ाने पर भी मंत्रालय का जोर होगा। नई ई-कॉमर्स पॉलिसी का ड्राफ्ट भी जारी किया जाएगा।


ऊर्जा मंत्रालय का 100 दिन का पावरपैक प्लान


तय समय में NPA सुलझाने का रोडमैप बनेगा। मंत्री समूह की सिफारिशों की समीक्षा होगी। थर्मल प्लांट्स के बकाए के भुगतान का मैकेनिज्म बनेगा। डिस्कॉम की वित्तीय हालत सुधारने के लिए रोडमैप बनेगा। बिजली डिस्ट्रीब्यूशन घाटा कम करने के लिए प्लान बनेगा। उदय स्कीम-II के लिए रोडमैप तैयार किया जाएगा। 24 घंटे बिजली देने के लिए रणनीति पर काम होगा।