Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

MoMagic Technologies का सर्वे, मोबाइल विज्ञापनों से प्रभावित होकर खरीदारी कर रहे उपभोक्ता

कंपनियां अपने प्रोडक्ट की जानकारी मोबाइल के जरिए सीधे उपभोक्ता तक पहुंचा रही हैं।
अपडेटेड Dec 16, 2019 पर 10:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मोबाइल फोन पूरी दुनिया में आम जिंदगी का हिस्सा बन गए हैं। कई लोगों को मोबाइल के बिना जिंदगी थमी सी नजर आती है। हर किसी की जेब में रहने वाला ये मोबाइल कंपनियों के लिए भी बेहद अहम है। कंपनियां अपने प्रोडक्ट की जानकारी मोबाइल के जरिए सीधे उपभोक्ता तक पहुंचा रही हैं। कंपनियां पहले विज्ञापन के लिए रेडियो, टीवी, अखबार-मैग्जीन जैसे माध्यमों का सहारा लेती थीं लेकिन अब वो मोबाइल के प्लेटफॉर्म का खूब इस्तेमाल कर रही हैं, जो कि खासा लोकप्रिय हो रहा है। दरअसल, MoMAGIC TECHNOLOGY एक सर्वे से खुलासा हुआ है कि 70 फीसदी भारतीय मोबाइल विज्ञापनों से प्रभावित होकर फैसले करते हैं।


मोबाइल विज्ञापन पर MoMAGIC के सर्वे से पता चलता है कि उपभोक्ता मोबाइल विज्ञापन से प्रभावित होकर खरीदारी के फैसले करते हैं। 70 फीसदी भारतीय मोबाइल विज्ञापनों से प्रभावित होकर खरीदारी के फैसला करते हैं। 89 फीसदी लोगों ने पिछले कुछ दिनों में मोबाइल पर विज्ञापन देखे। सोशल मीडिया के इस्तेमाल के दौरान सबसे ज्यादा विज्ञापन देखे गए। इस सर्वे से पता चलता है कि 24 फीसदी लोग Social Media Sites पर विज्ञापन देखते हैं। 14 फीसदी लोग Mobile Games & e-Commerce Sites पर विज्ञापन देखते हैं और 10 फीसदी लोग Video Aggregator/Creators Apps पर विज्ञापन देखते हैं। 35 फीसदी लोग Vertical Format में विज्ञापन देखना चाहते हैं जबकि 72 फीसदी लोग बेहतर अनुभव चाहते हैं।


इस सर्वे से ये भी पता चलता है कि सबसे ज्यादा पंजाबी विज्ञापन लोकप्रिय हैं। पंजाबी विज्ञापन देखने वाला का हिस्सा सबसे ज्यादा 17 फीसदी है उसके बाद बंगाली, तेलुगू और मराठी का हिस्सा आता है। बंगाली में 9 फीसदी,  तेलुगू में 7 फीसदी और मराठी में भी 7 फीसदी लोग विज्ञापन देखते हैं।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।