Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बिहार के 12 जिलों में बाढ़ से तबाही, 46 लोगों की मौत की खबर

बिहार में एक बार फिर बाढ़ से हालात बेकाबू हो रहे हैं। बिहार के 12 ज़िलों में बाढ़ ने तबाही मचा रखी है।
अपडेटेड Jul 16, 2019 पर 16:28  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बिहार में एक बार फिर बाढ़ से हालात बेकाबू हो रहे हैं। बिहार के 12 ज़िलों में बाढ़ ने तबाही मचा रखी है। बाढ़ में अबतक बिहार में 46 लोगों की मौत हो गई है। सबसे ज्यादा असर किशनगंज, पूर्णियां, अररिया, दरभंगा, सुपौल, मधुबनी, सीतामढ़ी और मुजफ्फरपुर जिलों पर पड़ा है। बाढ़ की वजह से राज्य के करीब 26 लाख लोगों प्रभावित हुए हैं। गांव के गांव डूब गए हैं। कई इलाक़ों में तो लोगों के पास खाने-पीने तक का सामान नहीं बचा है। बाढ़ की ऐसी मार पड़ी कि हजारों लोग बेघर हो गए है। बाढ़ की वजह से 46 लोगों के मौत की खबर है हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ की वजह से 25 लोगों के मौत की बात कही है।


रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा मौते मोतिहारी जिले में हुई हैं। मोतिहारी में बाढ़ की वजह से 19 लोगों को मौत की खबर है। वहीं अररिया में मौत का आंकड़ा 11 तक पहुंच गया है। किशनगंज में बाढ़ की वजह से 4 लोगों के मौत की खबर है।


बाढ़ से हालात इतने खराब हैं कि दरभंगा में पानी की तेज धार में एक पुल देखते-देखते बह गया। जिस वक्त ये सड़क और पुल पानी के तेज बहाव में बहा उस वक्त वहां सैकड़ों लोगों की भीड़ खड़ी थी। ये पुल दरभंगा और सीतामढ़ी को जोड़नेवाली बाइपास रोड पर बना था। इस पुल के बह जाने से प्रखंड मुख्यालय और NH-57 से कई गांवों का संपर्क टूट गया है।


बिहार में बाढ़ का सबसे बड़ा कारण नेपाल में भारी बारिश और वहां से छोड़ा जा रहा पानी है। नेपाल में पहाड़ों पर भारी बारिश की वजह से कोसी बैराज में पानी बढ़ गया है। जिसके बाद बैराज के 36 गेट खोल दिए गए हैं और यहां से 3500 से ज्यादा परिवारों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाया गया है। नेपाल में बाढ़ की वजह से अब तक 70 लोगों के मौत की खबर है। 


नेपाल में भी भारी बारिश और बाढ़ से हाहाकार मचा हुआ है। कोसी बैराज में पानी बढ़ने से 36 गेट खोल दिए गए है और यहाँ से 3500 परिवारों को सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है। बैराज के गेट खोलने से बिहार के भी 8 जिलों में तबाही मची है।  नेपाल में भी बाढ़ से अब तक 70 लोगों की मौत हो चुकी है।