Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बुरी फाइनेंशियल आदतों से छुटकारा जरूरी, योर मनी से जानिए 10 नुस्खे

योर मनी में हम आपको यहां बता रहें हैं बुरी फाइनेंशियल आदतों से छुटकारा पाने के तरीके।
अपडेटेड Sep 30, 2019 पर 09:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी में हम आपको यहां बता रहें हैं बुरी फाइनेंशियल आदतों से छुटकारा पाने के तरीके। किसी तरह की आर्थिक परेशानी से जूझने के लिए तैयार रहना जरूरी होता है। अगर आप पैसे की तंगी से गुजर रहे हैं तो आप किस तरह से इससे निकल सकते हैं ये बताने के लिए सीएनबीसी-आवाज़ के साथ हैं Roongta Securities के डायरेक्टर हर्षवर्धन रूंगटा।


बुरी फाइनेंशियल आदतों में फिजूल खर्ची, निवेश न करना, क्रेडिट कॉर्ड का बिना सोचे-समझे उपयोग करना और मेडीक्लेम न लेना शामिल हैं। इनमें फिजूल खर्ची पहले नंबर पर आती है। हर्षवर्धन रूंगटा का कहना है सारी मुश्किलों की शुरुआत फिजूल खर्ची से ही होती है। तो किसी आर्थिक परेशानी से बचने के लिए फिजूल खर्च ना करें। बाहर खाना-पीना, फिल्म देखने पर कम खर्च करें। लाइफस्टाइल के मुताबिक ही खर्च करें और बजट बनाकर ही आउटिंग के लिए जाएं।


एकाएक किसी वित्तीय परेशानी में आ गए हैं तो EMI का बोझ कम करें। इसके लिए होम लोन की अवधि बढ़ाने की कोशिश करें। समय बढ़ने से EMI का बोझ कम होगा और दूसरे खर्चों के लिए पैसे बचेंगें। आर्थिक तौर पर हमेशा तैयार रहने के लिए पर्याप्त इंश्योरेंस खरीदें। मेडिकल इमरजेंसी का ख्याल रखें। लाइफ और हेल्थ इंशयोरेंस जरूर खरीदें।


किसी तरह की आर्थिक तंगी से बचने के लिए गाड़ी का इस्तेमाल कम करें। पब्लिक ट्रांसपोर्ट में ज्यादा सफर करें इससे पेट्रोल-डीजल का खर्च बचेगा। बच्चों की स्कूल फीस के लिए पहले से तैयारी करें। पैसा ना होने पर स्कूल से एक्सटेंशन लें। क्रेडिट कार्ड से दूर रहें। इसका इस्तेमाल इमरजेंसी में ही करें। इसके जरुरत से ज्यादा इस्तेमाल से बचें। पैसों की किल्लत पर ही कार्ड का इस्तेमाल करें।


छोटे घर में शिफ्ट हो जाना भी तंगी से निकलने का एक तरीका है तो बड़े घर से छोटे घर में शिफ्ट हो जाएं। पैसों की कमी होने पर अपना घर रेंट पर दे दें। छोटे घर में शिफ्ट होकर और अपना घर रेंट पर देकर अतिरिक्त कमाई कर सकते हैं। लोन लेने से बचें रोजमर्रा के खर्च के लिए कर्ज ना लें। इसके लिए सेविंग या निवेश का इस्तेमाल करें। सेविंग खत्म होने की चिंता न करें। सेविंग्स जरुरत के समय ही काम आती हैं। आगे की सेविंग्स के लिए बचत-निवेश में तालमेल बनाएं रखें। बुरे समय से सीख लें। हर बुरा समय सीख देकर जाता है। इमरजेंसी फंड को प्राथमिकता दें।


 



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।