दवा बनाने में गड़बड़ी, सख्त कार्रवाई की तैयारी -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दवा बनाने में गड़बड़ी, सख्त कार्रवाई की तैयारी

प्रकाशित Wed, 09, 2018 पर 11:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जो दवाएं आप लेते हैं उन दवाओं को बनाने में मानकों का ख्याल नहीं रखा जा रहा है। एक खुलासा में ये बात सामने आई है कि करीब 60 फीसदी दवा बनाने में मानकों की अनदेखी हो रही है। ये चौंकाने वाला खुलासा हुआ है सेंट्रल और स्टेट ड्रग कंट्रोलर के ज्वाइंट रिस्क बेस्ड इंस्पेक्शन में। अब इन दवा कंपनियों के खिलाफ ड्रग कंट्रोलर सख्त कार्रवाई करने वाली है। 184 कंपनियों में रिस्क बेस्ड इंस्पेक्शन किया गया जिसके लिए सेंट्रल औऱ स्टेट ड्रग कंट्रोलर ने मिल कर की दवा कारखानों की जांच की जिससे पता चला है कि दवा कंपनियां निर्माण मानकों को पूरा नहीं कर रही हैं।


इन 184 में से 105 कंपनियां मानकों पर खरी नहीं उतरी, 33 कंपनियां सिर्फ 25 फीसदी मानक पूरा कर रही हैं। 36 कंपनियां 25 से 50 फीसदी मानकों पर खरी उतरीं। 36 अन्य कंपनियां पैमाने पर 50 से 75 फीसदी खरी उतरीं। मानक पूरा न करने वाली कंपनियों में कई बड़े नाम शामिल हैं।


बता दें कि दवा कंपनियों का सालाना 2 लाख करोड़ रुपये का है कारोबार है। तमाम कंपनियों ने गुड मैन्युफैक्चरिंग प्रैक्टिस को लागू नहीं किया है। दवाओं को बनाने के लिए ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट के मुताबिक मानकों का पालन नहीं किया जा रहा है।


इस पर ड्रग कंट्रोलर जनरल (इंडिया) डा. ईश्वर रेड्डी ने कहा कि गुणवत्ता बनाए रखने के लिए 1 लाख दवाओं का सेंपल भी लिया गया। जिससे पता चला है कि 25 कंपनियां जीएमपी मानकों को बिल्कुल भी नहीं मान रही हैं। स्टेट ड्रग कंट्रोलर को कार्रवाई के लिए कहा गया है। लाइसेंस कैंसिल करने, लाइसेंस सस्पेंड करने, प्रोडक्ट अप्रूवल रद्द करने और शो कॉज नोटिस जारी करने जैसी कार्रवाई की गई हैं। कई कंपनियों में क्वालिटी मैनेजमेंट और क्वालिटी कंट्रोल में गड़बड़ी मिली है।