Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

एयर पैसेंजर चार्टर, सुहाना नहीं हवाई सफर

प्रकाशित Wed, 06, 2019 पर 13:53  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हवाई सफर करने वालों को लगता था कि पैसेंजर चार्टर के आने से उनका सफर सुहाना होगा। लेकिन इस उम्मीद को झटका लग सकता है। सूत्रों के मुताबिक एयरलाइंस के दबाव में सरकार ने हाथ खड़े कर दिए हैं। फ्लाइट में देरी पर जुर्माना और कैंसिलेशन सुविधा वाली जो बात हो रही थी उसको लेकर नियमों में ढिलाई हो सकती है। पैसेंजर चार्टर इस महीने के अंत तक आ सकता है। एयरलाइंस को नियमों में कई रियायतें मिलीं। हर्जाना की समयसीमा एयरलाइंस तय करेंगी। दूसरी फ्लाइट विकल्प पर हर्जाना में छूट और मौसम की वजह से देरी पर एयरलाइंस जिम्मेदार नहीं होगी। जबकि ड्राफ्ट में 5,000 रुपये से 20,000 रुपये तक हर्जाने का प्रावधान था और सीट सेलेक्शन के लिए अतिरिक्त किराए से भी सरकार सहमत हो गई है।




एविएशन एक्सपर्ट परवेज दमानिया का कहना है कि एयर लाइन की गलती की सजा पैसेंजर क्यों भुगते? पैसेंजर का फायदा नहीं हो रहा है। एयर लाइन को पैसेंजर की चिंता करनी चाहिए। फिर भी फाइनल ड्राफ्ट देखने के बाद ही अधिक जानकारी मिलेगी।