Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

UP के सोनभद्र में 3000 टन सोने की खबर को GSI ने किया खारिज

जिले के एक खनन अधिकारी ने दावा किया था कि यूपी के सोनभद्र जिले में तकरीबन 3,000 टन सोना पाया गया है।
अपडेटेड Feb 24, 2020 पर 10:27  |  स्रोत : Moneycontrol.com

उत्तर प्रदेश का सोनभद्र जिला इन दिनों गोल्ड (सोना) को लेकर सुर्खियों में छाया हुआ है। कहा जा रहा था कि यहां तकरीबन 3,000 टन सोना है। जो कि भारत के सोना भंडार क्षमता से 5 गुना अधिक है। लेकिन अब GSI (Geological Survey of India) ने इस बात को सिरे से खारिज कर दिया है। GSI का कहना है कि पिछले दिनों जांच पड़ताल कर रहे थे, लेकिन गोल्ड के मामले उत्साहजनक नतीजे नहीं आए हैं।


सोनभद्र जिले के खनन अधिकारी के. के राय ने बताया था कि GSI ने सोन पहाड़ी और हरदी इलाकों में तकरीबन 3,000 टन सोने की मौजूदगी का पता लगाया है।


GSI का कहना है कि सोनभद्र की खदान में 3,000 टन सोने की बात को नहीं मानता। GSI का सर्वे अभी चल रहा है। GSI ने कहा कि हमारी ओर से इस तरह का डाटा किसी को नहीं दिया जाता। GSI ने सोनभद्र जिले में इतना सोना होने का कोई अनुमान नहीं लगाया है। GSI ने कहा कि राज्य यूनिट के साथ सर्वे करने के बाद हम किसी भी धातु मिलने की जानकारी को साझा करते हैं। हमने (GSI, उत्तर क्षेत्र) ने इस क्षेत्र में 1998-99 और 1999-2000 में खुदाई की थी। वह रिपोर्ट यूपी के डीजीएम के साथ साझा कर दी थी ताकि वे आगे की कार्रवाई कर सकें।


कोलकाता में GSI के महानिदेशक श्रीधर ने कहा कि सोनभद्र में मिले स्वर्ण अयस्क से प्रति टन सिर्फ 3.03 ग्राम ही सोना निकलेगा। पूरे खदान से 160 किलो सोना ही निकलेगा न कि 3,350 टन सोना। सोनभद्र में 52806.25 टन स्वर्ण अयस्क निकाला जा सकता है। श्रीधर ने आगे कहा कि सोने के लिए GSI की खुदाई संतोषजनक नहीं थी और सोनभद्र जिले में सोने के बड़े स्रोत के परिणाम भी बहुत ज्यादा उत्साहित नहीं थे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।