Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

प्रायोजकों का टोटा, फीका रहेगा मुंबई में गरबा!

प्रकाशित Tue, 09, 2018 पर 11:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इस बार नवरात्रि में मुंबई के गरबे फीके पड़ सकते हैं। पैसों की कमी और 10 बजे के बाद गरबा बंद करने की मजबूरी के चलते आयोजकों का उत्साह ठंडा है। इस बार कई जगहों पर तो रस्म अदायगी के लिए सिर्फ 1 दिन का गरबा होगा। मुंबई के ज्यादातर गरबा आयोजकों को प्रायोजक नहीं मिल रहे हैं। इन्हें सबसे ज्यादा पैसा रियल एस्टेट डेवलपर्स से मिलता है लेकिन पिछले 2 साल से डेवलपर्स नोटबंदी, जीएसटी और रेरा का रोना रो रहे हैं। ऐसे में टिकट बेचकर 10 दिन तक  गरबा चलाना मुश्किल है।


एक गरबा अगर दस दिन चला तो 3 करोड़ रुपये का खर्च आता है। इतना पैसा बिना किसी प्रायोजक के जुटाना मुश्किल है। दूसरी तरफ पिछले कुछ सालों से रात 10 बजे के बाद गरबा पर पाबंदी है। ये भी एक वजह है कि गरबे का आकर्षण और उसमें आने वाला पैसा कम हो रहा है। नतीजा अब ज्यादातर जगहों पर रस्म अदायगी के लिए सिर्फ 1 दिन का गरबा हो रहा है।