Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Nirma ग्रुप की कैपिटल मार्केट में री-एंट्री, Nuvoco Vistas के IPO के लिए सेबी में फाइल किए पेपर

2016 में निरमा ग्रुप ने LafargeHolcim के भारतीय एसेट को 1.4 अरब डॉलर में अधिग्रहित किया था.
अपडेटेड May 07, 2021 पर 08:25  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अरबपति उद्योगपति करसन भाई पटेल (Karsanbhai Patel) द्वारा स्थापित निरमा ग्रुप भारतीय घरेलू  कैपिटल मार्केट में जोरदार वापसी करने के जा रही है। बता दें कि निरमा ग्रुप अपने निरमा वॉशिंग पाउडर के चलते भारत के घर-घर में जाना जाता है।


निरमा लिमिटेड को स्टॉक एक्सचेंजों से डिलिस्ट करवाने के 9 साल बाद अहमदाबाद स्थिति निरमा समूह की सीमेंट शाखा  Nuvoco Vistas Corporation Ltd  ने सेबी में 5000 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए अपना DRHP (ड्रॉफ्ट रेड हेयरिंग प्रोस्पेक्टस) दाखिल कर दिया है। मनीकंट्रोल को यह जानकारी सूत्रों के हवाले से मिली है।


यह भारतीय कैपिटल बाजार में 14 साल बाद होने वाली सीमेंट सेक्टर की कोई लिस्टिंग होगी क्योंकि इससे पहले 2007 में Burnpur Cement लिस्टिंग के बाद अभी तक कोई सीमेंट कंपनी बाजार में लिस्ट नहीं हुई है।


जिस तरीके से कभी निरमा वाशिंग पाउडर ने अपने स्वर्णकाल में एचयूएल जैसी मल्टीनेशनल कंपनियों को हिलाकर रख दिया था उसी तरह Nuvoco Vistas ने पिछले 5 साल से अपने अग्रेसिव M&A स्ट्रैटजी के जरिए घरेलू सीमेंट कंपनियों को हिला कर रख दिया है।


2016 में निरमा ग्रुप ने  LafargeHolcim के भारतीय एसेट को 1.4 अरब डॉलर में अधिग्रहित किया था। इस अधिग्रहण में उसने JSW Group औऱ  Piramal Group जैसे हैवीवेट्स को पछाड़ दिया था।


फरवरी 2020 में निरमा ग्रुप ने कर्ज के बोझ से जूझ रहे इमामी के सीमेंट एसेट को 77  करोड़ डॉलर में अधिग्रहित करने के लिए एक सौदा किया था।


सेबी में दाखिल  DRHP के मुताबिक इस आईपीओ में 1500 करोड़ रुपये का फ्रेश  इश्यू होगा जबकि 3500 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल होगा। कंपनी के प्रमोटरों का मानना है कि  Nuvoco Vistas ने अकेले दम पर काफी प्रगति कर ली है अब इसको बाजार में लिस्ट होना चाहिए।


Nuvoco Vistas की कुल उत्पादन क्षमता 20 मिलियन टन प्रति वर्ष है। देश भर मे  कंपनी के 7 सीमेंट प्लांट और 6 रेडिमिक्स प्लांट है। कंपनी की उपस्थिति तेजी से विकास करते देश के पूर्वी और उत्तरी हिस्से में है।


आईपीओ के DRHP में दिए  गए विवरण के मुताबिक  ICICI Securities, Axis Capital, JP Morgan, HSBC Securities और SBI Capital इस आईपीओ के लिए एडवाइजर के रुप में काम कर रहे हैं। वहीं Shardul Amarchand Mangaldas कंपनी के काउंसलर है और Trilegal बैंकरों के काउंसलर हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.