Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बैंकों के मर्जर से अफसर खफा, 5 सितंबर को दिल्ली में करेंगे मीटिंग

सरकारी बैंकों के मर्जर के खिलाफ कई बैंक यूनियनों के अफसर दिल्ली में 5 सितंबर को एक मीटिंग करेंगे। जिसमें सरकार के इस फैसले का विरोध जताने के लिए रणनीति बना सकते हैं।
अपडेटेड Sep 03, 2019 पर 16:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मोदी सरकार ने बैंकिंग सिस्टम को दुरुस्त करने के लिए बैंकों को मर्जर करने की योजना शुरु की है। सरकार के इस फैसले के खिलाफ कई बैंक यूनियनों के अधिकारी दिल्ली में एकत्र हो रहे हैं। इन सभी यूनियनों के अधिकारी 5 सितंबर को दिल्ली में मीटिंग करेंगे। इस बात की जानकारी आल इंडिया आंध्रा बैंक आफिसर्स एसोसिएशन ने दी है। बैठक के बाद सरकार के खिलाफ इस योजना विरोध जता सकते हैं।
दरअसल फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने पिछल हफ्ते बैंकों क मर्ज करने की घोषणा की थी। जिसमें ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का पंजाब नेशनल बैंक में मर्ज होगा। सिंडिकेट बैंक का केनरा बैंक और आंध्रा बैंक मे मर्ज होना है। इसी तरह कॉरपोरेशन का मर्जर यूनियन बैंक ऑफ इंडिया में किया जाएगा। इसके अलावा इंडियन बैंक का विलय इलाहाबाद बैंक में होगा और यह PSU का सातवां सबसे बड़ा बैंक बन जाएगा।
आंध्रा बैंक शहर का एक ऐसा दूसरा बैंक होगा, जिसकी भौगोलिक पहचान खत्म हो जाएगी। इससे पहले स्टेट बैंक ऑफ हैदगराबाद का मर्जर भारतीय स्टेट बैंक में किया गया था।
सूत्रों के मुताबिक, सभी बैंक अधिकारियों के संघों के महासचिव दिल्ली की बैठक में शामिल होंगे। जिसमें सरकार के इस फैसले का विरोध जताने के लिए रणनीति बना सकते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।