Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

देश भर के करीब 180 किसान संगठनों का दिल्ली में प्रदर्शन

देशभर के करीब 170 किसान संगठन मिलकर सरकार के सामने अपनी मांग रखेंगे।
अपडेटेड Nov 20, 2017 पर 09:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आज दिल्ली में किसानों की महासंसद होने जा रही है। देशभर के करीब 180 किसान संगठन मिलकर सरकार के सामने अपनी मांग रखेंगे। ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोऑर्डिनेशन कमेटी ने इस प्रदर्शन का आयोजन किया है। कल से ही दिल्ली के रामलीला मैदान में किसानों ने जुटना शुरू कर दिया है।


ये किसान केंद्र सरकार की कृषि संबंधी नीतियों का विरोध कर रहे हैं साथ ही कर्ज माफी की मांग कर रहे हैं। किसानों की मांग है कि किसानों को कर्ज से मुक्ति मिले। पशुओं को गांव में बेचने में दिक्कत हो रही है। गौरक्षा के नाम पर हिंसा करने वालों से सुरक्षा मिले। सरकार 1.5 गुना तक एमएसपी बढ़ाए। किसानों की आत्महत्या रोकने के लिए ठोस उपाए हों। फसल की लागत पर 50 फीसदी मुनाफा मिले। दिल्ली में ये किसान संसद दो दिनों तक चलेगी।


आज इस किसान मुक्ति संसद में 2 विधेयक पेश हुए। जिनका नाम है कृषि उपज लाभकारी मूल्य विधेयक और पूर्ण कर्ज मुक्ति विधेयक। इन विधेयकों में मांग की गई है कि हर तरह के कर्ज को माफ किया जाए। इसमें साहूकारों से लिया गया कर्ज भी शामिल है। इसके अलावा किसानों की मांग है कि फसल का 1.5 गुना दाम दिया जाए। अब कल इस पर फिर से चर्चा होगी जिसके बाद इनके पास होने से देश भर में इस पर सहमति बनाने की कोशिश की जाएगी।


उधर ऑल इंडिया किसान संघर्ष कमिटी के सदस्य योगेंद्र यादव ने किसानों को लेकर सरकार की अनदेखी पर हमला बोला। का कहना है कि सरकार के पास किसानों के लिए नीतियां तो है लेकिन उन्हें पूरा करने की नीयत नहीं है।