भारती एक्सा की लेटलतीफी, पहरेदार ने की मदद -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

भारती एक्सा की लेटलतीफी, पहरेदार ने की मदद

प्रकाशित Sat, 11, 2018 पर 17:22  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर आने वाला टीवी का सबसे बड़ा कंज्यूमर शो पहरेदार ग्राहक की आवाज़ बुलंद करता है और लड़ता है ग्राहक के हक की लड़ाई। जब कंपनियों की मनमानी के सामने कंज्यूमर झुकने लगता है, तब उनके हक की आवाज़ लेकर पहरेदार करता है कंपनी से सवाल और कंपनी को देना होता है जवाब।


पहरेदार के जरिए उन लोगों को इंसाफ मिल पाता है जो कंपनियों के अड़ियल रवैये के चलते उन जरूरी सर्विसेज से महरूम रह जाते हैं जो उनका हक है। पहरेदार उन कंपनियों को भी सबक सिखाता है जो वादे तो कर देती हैं लेकिन उन्हें पूरे करने में आनाकानी करती हैं।


इंश्योरेंस खरीदते वक्त कंपनियां बड़े-बड़े दावे करती हैं, लेकिन जब क्लेम लेने की बारी आती है तब इंश्योरेंस कंपनियां एक से बढ़कर एक तरीके ढूंढ़ती हैं जिससे या तो आपको क्लेम खारिज हो या क्लेम के पैसे किसी तरह कम हो जाएं। इंश्योरेंस खरीदार को क्लेम ही मिल जाए वही बड़ी बात है।


दिल्ली के ओम प्रकाश सिंह को कार खरीदने के सिर्फ 1 साल के अंदर ही इंश्योरेंस की जरूरत पड़ गई, लेकिन क्लेम का निपटारा करने से ज्यादा भारती एक्सा आनाकानी करती रही। 4 जुलाई 2017 को गाड़ी का एक्सिडेंट हुआ, इसके बाद थाने में एफआईआर दर्ज की गई और इंश्योरेंस कंपनी को मामले की जानकारी दी गई। सर्वेयर ने सभी तरह की कार्यवाही भी की।


हालांकि सर्वेयर की लापरवाही से कागजात खो गए, लेकिन ओम प्रकाश सिंह ने दोबारा कागजात साइन किए। भारती एक्सा ने 1 महीने में क्लेम पास करने का भरोसा दिया, पर 3 महीने के बाद भी सर्वेयर ने रिपोर्ट नहीं सौंपी। कंपनी ने मामले को जल्द सुलझाने का आश्वासन दिया और फिर बार-बार तारीख बढ़ाती रही। फिर पहरेदार की दखल के बाद ओम प्रकाश सिंह को राहत मिली। कंपनी की ओर से कार्यवाही होने लगी।