Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

पहेरदार की पहल, वीडियोकॉन ने सुधारी गलती

प्रकाशित Sat, 04, 2018 पर 17:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर आने वाला टीवी का सबसे बड़ा कंज्यूमर शो पहरेदार ग्राहक की आवाज़ बुलंद करता है और लड़ता है ग्राहक के हक की लड़ाई। जब कंपनियों की मनमानी के सामने कंज्यूमर झुकने लगता है, तब उनके हक की आवाज़ लेकर पहरेदार करता है कंपनी से सवाल और कंपनी को देना होता है जवाब।


पहरेदार के जरिए उन लोगों को इंसाफ मिल पाता है जो कंपनियों के अड़ियल रवैये के चलते उन जरूरी सर्विसेज से महरूम रह जाते हैं जो उनका हक है। पहरेदार उन कंपनियों को भी सबक सिखाता है जो वादे तो कर देती हैं लेकिन उन्हें पूरे करने में आनाकानी करती हैं।


हम जब भी कोई सामान खरीदने निकलते हैं तो नजर रहती है बेस्ट ब्रांड्स पर, वो ब्रांड जो अपने मार्केट स्पेस में लीडर हों। जितना बड़ा ब्रांड उतना ज्यादा हम उस पर भरोसा करते हैं, लेकिन प्रोडक्ट के साथ एक बुरा अनुभव इस भरोसे को हिला देता है।


गाजियाबाद के मनोज कुमार ने वीडियोकॉन से 20 मार्च 2016 में 3 साल की वारंटी पर टीवी खरीदी, लेकिन वारंटी पीरियड के दौरान टीवी में दिक्कत आई। टीवी पर 2 साल की एक्सटेंडेड वारंटी दी गई थी। 2 साल के बाद टीवी के एलईडी पैनल में खराबी आई। वीडियोकॉन के कस्टमर केयर पर संपर्क किया है, तो कंपनी ने दूसरा टीवी देना का आश्वासन दिया। कंपनी ने बाद में नए टीवी की आधी कीमत देने की मांग की। पहरेदार से संपर्क किया और परेशानी बताई। 26 जुलाई को कंपनी की ओर से फोन आया। कंपनी ने दूसरा मॉडल देने की बात कही और  टीवी के दूसरे मॉडल का दाम 7000 रुपये ज्यादा बताया गया। नए टीवी के बदले अतिरिक्त 7000 रुपये देने को कहा है।
 
पहरेदार को दिए अपने आधिकारिक बयान में वीडियोकॉन में मामला सुलझ गया है। पहरेदार के संपर्क से पहले कंपनी ने ग्राहक को राहत दी है। पुराने टीवी के बदले नया टीवी दिया गया है। हम अपने कंज्यूमर की कद्र करते है। देश में फैले सर्विस सेंटर के जरिए ग्राहक को ज्यादा से ज्यादा सहायता दी जाती है।