Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

मोदी सरकार के खिलाफ सेव पब्लिक सेक्टर सेव इंडिया आंदोलन की तैयारी

मोदी सरकार के आर्थिक सुधार के बारें में आरएसएस से जुड़े श्रमिक संगठन भारतीय मजदूर संघ (BMS) की ओर से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के निर्णय का जोरदार विरोध किया गया है।
अपडेटेड Jun 08, 2020 पर 11:59  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मोदी सरकार के नीतियों के खिलाफ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की तरफ से विरोध के स्वर गूंजते दिखाई दे रहे हैं। मोदी सरकार के आर्थिक सुधार के बारें में आरएसएस से जुड़े श्रमिक संगठन भारतीय मजदूर संघ (BMS) की ओर से वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के निर्णय का जोरदार विरोध किया गया है। ये संगठन सेव पब्लिक सेक्टर सेव इंडिया नाम से आंदोलन करने की तैयारी कर रहा है।


महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक मोदी सरकार के आर्थिक सुधार नीतियों के संबंध में आरएसएस में दो फाड़ नजर आ रहा है। सार्वजनिक उपक्रम वाली कंपनियों के निजीकरण और इनमें  निवेश के सरकार के बड़े निर्णय से देश भर में नाराजगी फैली हुई है। ऐसे में भारतीय मजदूर संघ कोरोना संकट के काल में ही 10 जून से सरकार के विरोध में प्रदर्शन करते हुए आंदोलन करने का निर्णय लिया है।


भारतीय मजदूर संघ का कहना है कि मोदी सरकार ने श्रमिक संगठनों को विश्वास में न लेकर और उनसे संवाद किये बिना सरकारी कंपनियों के निजीकरण और निवेश का निर्णय घोषित किया। मोदी सरकार की ये नीति देश के मजदूरों के हितों के खिलाफ है। इसलिए इसके विरुद्ध आवाज बुलंद करने के लिए संगठन ने देशव्यापी आंदोलन करने का फैसला किया है।


भारतीय मजदूर संघ ने कहा है कि सेव पब्लिक सेक्टर सेव इंडिया आंदोलन के तहत मुनाफे वाली कंपनी की बिक्री के विरुद्ध देश भर में प्रदर्शन किया जायेगा। रेलवे, डिफेंस, ऑर्डिनेंस फैक्टरी में निजी निवेश गलत निर्णय है। वहीं कोयला क्षेत्र का व्यावसायीकरण भी मजदूरों के हित में नहीं है। इसके अलावा डिफेंस जैसे रणनीतिक सेक्टर में एफडीआई की निर्णय बहुत ही गलत है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।