Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

इनवेंटरी ठीक करने के लिए प्रोडक्शन घटाया, आगे सुधरेंगे हालात: मारुति

मारुति को इस त्योहारी सीजन हालात सुधरने की उम्मीद है
अपडेटेड Sep 05, 2019 पर 17:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ऑटो सेक्टर में भारी मंदी है। ऐसे में देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति ने दो दिन के लिए प्रोडक्शन बंद करने का फैसला किया है। कंपनी 7 सितंबर और 9 सितंबर को गाड़ियों का प्रोडक्शन नहीं करेगा। कंपनी का कहना है कि सेल कम होने की वजह से ये फैसला लिया गया है। कंपनी का कहना है कि प्रोडक्शन और सेल को बैलेंस करने के लिए ये फैसला लिया गया है। इससे पहले इसी साल फरवरी में इस तरह का फैसला लिया गया था जब कंपनी में उत्पादन ज्यादा हो गया था और सेल कम हो गई थी। कामगार यूनियन के महासचिव का मानना है कि इस मंदी के लिए नोटबंदी और जीएसटी कहीं ना कहीं जिम्मेदार है।


मारुति को इस त्योहारी सीजन हालात सुधरने की उम्मीद है। कंपनी के MARKETING & SALES के एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर शशांक श्रीवास्तव का कहना है कि डिस्काउंट के चलते कंपनी के मार्जिन पर असर पड़ सकता है। गाड़ियों पर इस वक्त अच्छे डिस्काउंट दिए जा रहे हैं। उन्होंने ये भी कहा कि इंवेंटरी ठीक करने के लिए प्रोडक्शन घटाया गया है। BS6 वाली S-Cross और Brezza इसी साल आएगी।


ऑटो कंपनियों की संस्था SIAM के कॉन्क्लेव में ट्रांसपोर्ट मंत्री नितिन गडकरी ने एक बार फिर ये साफ किया है कि सरकार ना सिर्फ ऑटो सेक्टर की बिक्री बढ़ाने को लेकर चिंतित है, बल्कि वो खुद वित्त मंत्री से कहेंगे कि इसके लिए पेट्रोल, डीजल गाड़ियों पर GST घटाने पर विचार किया जाए।


वहीं M&M के MD पवन गोयनका को लगता है कि ऑटो सेक्टर की मंदी की एक बड़ी वजह है ग्राहक के मन का कंफ्यूजन। रिवाइवल के लिए GST घटाने जैसे उपाय के साथ-साथ ये BS6 और EV लेकर जो कंफ्यूजन है, उसे दूर करना जरूरी है।


इधर कोटक महिंद्रा बैंक के MD और CEO उदय कोटक ने भी भरोसा दिला है कि ऑटो सेक्टर के रिवाइवल में बैंक पूरी मदद करेंगे। ने भी कहा है कि बैंकिंग इंडस्ट्री किसी भी तरह के ऑटो लोन देने को तैयार है।


होंडा टू व्हीलर्स के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट वाई एस गुलेरिया का मानना है कि फेस्टिव सीजन से अच्छी उम्मीद तो की जा सकती है लेकिन मौजूदा हालात में एकदम से रिवाइवल नहीं होने वाला।


ऑटो कंपोनेंट बनाने वाले सोना ग्रुप का भी मानना है कि अब हालात सुधरेंगे। लेकिन सरकार को चाहिए कि कारों पर GST की दरें घटाए।


 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।