Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

PSU Bank Stocks: Morgan Stanley ने PNB, बैंक ऑफ बड़ौदा सहित इन बैंकों के Stocks को किया अपग्रेड, टार्गेट प्राइस बढ़ाया

ग्लोबल इंवेस्टमेंट एंड ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टेनली ने कम वैल्यूएशन पर ट्रेड कर रहे कई सरकारी बैंकों के स्टॉक्स के टार्गेट प्राइस को अपग्रेड करते हुए इसे बढ़ा दिया है
अपडेटेड Mar 05, 2021 पर 08:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

ग्लोबल इंवेस्टमेंट एंड ब्रोकरेज फर्म मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) ने कम वैल्यूएशन पर ट्रेड कर रहे कई सरकारी बैंकों के स्टॉक्स के टार्गेट प्राइस को अपग्रेड करते हुए इसे बढ़ा दिया है। Morgan Stanley ने कुछ सप्ताह पहले ही देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक (PSU Bank) स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के स्टॉक्स के टार्गेट प्राइस को 525 रुपये से अपग्रेड करके 600 रुपये कर दिया था। इसके बाद अब ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म ने दो और PSU Banks पंजाब नेशनल बैंक (PNB) और बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda- BOB) के टार्गेट प्राइस को अपग्रेड कर दिया है।

Morgan Stanley ने कहा कि बैंलेंसशीट में जबरदस्त ग्रोथ और बेहतर कैपिटल रेशियो के बावजूद इन दोनों बैंकों के शेयर स्टॉक मार्केट में काफी कम वैल्यूएशन पर ट्रेड कर रहे हैं। ब्रोकरेज फर्म का कहना है कि इस वजह से आने वाले कुछ ही समय में इन सरकारी बैंकों के स्टॉक्स में जबरदस्त तेजी आ सकती है। Morgan Stanley ने PNB और BOB के साथ बैंक ऑफ इंडिया (Bank Of India) और केनरा बैंक (Canara Bank) के शेयर का टार्गेट प्राइस भी बढ़ा दिया है।

Morgan Stanley ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि घाटा कम होने, रेवेन्यू में बढ़ोतरी और लोन डिमांड बढ़ने के साथ आने वाले समय में NPA कम होने के कारण इन बैंकों के स्टॉक्स के टार्गेट को हमने बढ़ाया है, क्योंकि इनका वैल्यूएशन अभी काफी कम है। मॉर्गन स्टेनली ने बैंक ऑफ बड़ौदा के स्टॉक्स का टार्गेट प्राइस 65 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये कर दिया है, जबकि बैंक से शेयर आज 85.15 रुपये पर बंद हुए। वहीं, PNB के स्टॉक्स का टार्गेट प्राइस भी 35 रुपये से बढ़ाकर 48 रुपये कर दिया। आज PNB के शेयर 43.50 रुपये पर बंद हुए।

PSU Banks को मिल रहा टफ कॉम्पिटिशन

मॉर्गन स्टेनली ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि PSU Banks के बैलेंसशीट में सुदार हुआ है, लेकिन SBI को छोड़कर स्ट्रक्चरल चैलेंज अभी बरकरार है। इस रिपोर्ट में कहा गया कि कैपिटल रेशियो में सुधार हुआ है, लेकिन अभी ये इम्प्रेसिव नहीं हैं। इसके साथ ही PSU Banks को प्राइवेट बैंकों से टफ कॉम्पिटिशन मिल रहा है। 2015 में PSU Banks का डिपोजिट मार्केट शेयर 53% था जो FY20 में गिरकर 42% रह गया। इसने संकट की घंटी बजा दी है। इसी तरह PSU Banks का लोन मार्केट शेयर भी काफी गिरा है। 2010 में जहां लोन मार्केट में सरकारी बैंकों की हिस्सेदारी 53% थी वह 2020 में गिरकर 39% पर आ गई है।

सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।