Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

PSU stocks इस साल अब तक 465% भागे, क्या अभी भी बचे हैं इनमें निवेश के मौके

BSE PSU index के 60 में से कम से कम 16 शेयर ऐसे हैं जिनमें पिछले 1 साल में दोगुने से ज्यादा की बढ़ोत्तरी देखने को मिली है.
अपडेटेड Jun 16, 2021 पर 10:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सरकारी कंपनियों के शेयर पिछले 1 साल से सुर्खियों में है। सरकार के विनिवेश स्कीम के चलते निवेशक इन शेयरों को लेकर बुलिश है और इनमें खरीदारी कर रहे हैं।


BSE PSU इंडेक्स में अब तक 2021 में 38 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है। वहीं 12 जून 2020 से अब तक इस इंडेक्स में 66 फीसदी का उछल देखने को मिला है।


BSE PSU index के 60 में से कम से कम 16 शेयर ऐसे हैं जिनमें पिछले 1 साल में दोगुने से ज्यादा की बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। इनमें 106 फीसदी से 465 फीसदी तक की बढ़त आई है।


इस साल अब तक  Hindustan Copper, MMTC और  Bank Of Maharashtra में दोगुना की बढ़ोतरी देखने को मिली है। ये शेयर 173 फीसदी तक भागे हैं।


इस तेजी की क्या  है वजह?


इंफ्रास्ट्रक्चर पर सरकार का फोकस, विनिवेश की ओर बढ़ रहे कदम, इकोनॉमी में आ रही रिकवरी और कॉर्पोरेट एनपीए साइकिल की समाप्ति कुछ ऐसे अहम कारण है जिनकी वजह से सरकारी कंपनियों के शेयरों में निवेशकों की रुचि बढ़ी है ।


HDFC Asset Management CompanY के प्रशांत जैन का कहना है कि यूटिलिटी, एनर्जी, कई सरकारी कंपनियां और EPC के तहत  आने वाले कई स्टॉक अपने लॉन्ग टर्म एवरेज वैल्यूएशन से नीचे  नजर आ रहे हैं। वहीं कंज्यूमर ओरिएंटेड सेक्टर से संबंधित कंपनियां लॉन्ग टर्म  एवरेज वैल्यूएशन से ऊपर नजर आ रही हैं।


ओवर ऑल पीएसयू कंपनियों के वैल्यूएशन काफी अच्छे नजर आ रहे हैं। ऐसे में बाजार  की नजर अंडरवैल्यूड स्टॉकों पर है।


पीएसयू शेयरों में क्या हो निवेश रणनीति


बाजार जानकारों का कहना है कि कोविड-19 के दूसरी लहर ने सरकार के सामने वित्तीय मुश्किल खड़ी कर दी है। सरकार फंड जुटाने के लिए विनिवेश प्रक्रिया आगे बढ़ाने को मजबूर है। इसके अलावा अधिकांश पीएसयू कंपनियां देश की कोर इकोऩ़ॉमी से जुड़ी हुई है। कोरोना के मामले घटने के साथ ही धीरे-धीरे इकोनॉमी में रिकवरी आएगी और इस रिकवरी का फायदा इन सरकारी कंपनियों को मिलेगा । इसके अलावा विनिवेश और प्राइवेटाइजेशन से भी इन कंपनियों में सुधार आने की उम्मीद है।


Motilal Oswal के  Hemang Jani का कहना है कि इस तेजी के बावजूद हमें पीएसयू शेयरों की खरीद की अंधी दौड़ में नहीं शामिल होना चाहिए और चुनिंदा क्वालिटी शेयरों पर ही दांव लगाना चाहिए। कंपनियों के भविष्य की संभावनाओं को ध्यान में रखकर ही उनपर पैसे लगाने चाहिए।


Marwadi Shares के Jitesh Ranawat का कहना है कि निवेशकों को अब वहां मुनाफावसूल कर लेना चाहिए। जहां उन्होंने 300 फीसदी से ज्यादा की ग्रोथ हासिल की है। क्योंकि आगे अब ऐसी बढ़त की उम्मीद नहीं है।


Ranawat ने आगे कहा कि आर्थिक गतिविधियों के गति पकड़ते ही हमें कंपनियां पूरी क्षमता से काम करती दिखेंगी और  ये नई कैपिसिटी बिल्डिंग पर भी काम कर सकती हैं जिससे हमें दूसरी छमाई में हायर क्रेडिट ग्रोथ देखने को मिल सकता है।


Jitesh Ranawat की सलाह है कि  निवेशकों को power, banking, cement, infra, capital goods सेक्टर से संबंधित शेयरों पर दांव लगाना चाहिए। इन कंपनियों को सरकार की इंफ्रा और दूसरी योजनाओं पर बढ़ते खर्च से फायदा मिलेगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.