Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Indian Railways अपनी ₹1800 करोड़ की परियोजनाओं में प्रवासी मजदूरों को देगी रोजगार

अभी तक करीब 160 इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट पहचाने गए है जिनमें अगले कुछ महीनों तक हजारों प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिल सकता है।
अपडेटेड Jun 27, 2020 पर 14:38  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारतीय रेल गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत प्रवासी मजदूरों को रोजगार देने की घोषणा की है। भारतीय रेल इसके तहत 31 अक्टूबर तक 125 दिनों के लिए इन प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) को काम देगा। 6 राज्यों के 116 जिलों के मजदूरों को इस योजना के तहत काम मिलेगा। रेलवे ने अलग-अलग इंफ्रा परियोजनाओं पर 1800 करोड़ रुपये का निवेश कर रखा है जिसमें 31 अक्टूबर 2020 यानी 125 दिन तक हजारों प्रवासी मजदूरों को रोजगार मिल सकता है।


रेलवे मिनिस्टर पीयूष गोयल ने यह निर्णय उस मीटिंग में लिया जिसमें तमाम रेलवे जोन और रेलवे पीएसयू अधिकारियों ने भाग लिया था। इस बैठक में पीएम मोदी की गरीब कल्याण रोजगार अभियान की समीक्षा की जा रही थी।


बता दें कि हाल ही में इस अभियान को 6 राज्यों में शुरु किया गया है जिसका लक्ष्य कोरोना संकट की वजह से बेरोजगार हुए प्रवासी मजदूरों को रोजगार देना है।


फाइनेंशियल एक्सप्रेस में प्रकाशित खबर के मुताबिक इस मीटिंग में रेलवे बोर्ड के चैयरमेन विनोद कुमार यादव ने जोनल रेलवे को निर्देश दिया कि यह सुनिश्चित किया जाए कि रेलवे की चालू परियोजनाओं में प्रवासी मजदूरों को काम मिले।


उन्होंने यह सलाह भी दी कि इस उद्देश्य से हर जिले में एक नोडल ऑफिसर की नियुक्ति की जाए जो प्रवासी मजदूरों को रोजगार सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार के साथ मिलकर काम करें। अभी तक रेलवे में 160 इंफ्रा स्ट्रक्चर परियोजनाओं की पहचान की है जिनमें तेजी लाकर हजारों प्रवासी मजदूरों को अगले कुछ महीनों तक रोजगार दिया जा सकता है।


 इसके अलावा रेलवे ने ऐसे तमाम कामों की पहचान की है जिसमें मनरेगा के तहत बड़ी मात्रा में रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है। इन कामों में मुख्य़त: रेलवे से जुड़े संपर्क मार्गो का रख रखाव, रेलवे क्रॉसिंग से जुड़े काम, वाटरबेस और ड्रेन की साफ-सफाई और निर्माण जैसे काम शामिल है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।