Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

4 साल में रेलवे ने तत्काल टिकट से कमाए 25,000 करोड़ रुपये: RTI

सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के मुताबिक, इंडिन रेलवे ने महज 4 साल में तत्काल टिकट के जरिए 25,392 करोड़ रुपये की कमाई की है।
अपडेटेड Sep 02, 2019 पर 16:44  |  स्रोत : Moneycontrol.com

रेलवे कमाई के बारे में भी कभी पीछे नहीं रहा। तत्काल टिकट के जरिए रेलवे ने इतनी कमाई की है कि आप भरोसा भी नहीं कर सकते। RTI से मिली जानकारी के मुताबिक, रेलवे ने तत्काल टिकट के जरिए पिछले 4 साल में 25,392 करोड़ रुपये की कमाई की है।
रेलवे ने साल 2016-2019 के बीच तत्काल कोटे से 21,530 करोड़ रुपये की कमाई की है। इसके साथ ही 3,862 करोड़ रुपये की एक्सट्रा इनकम प्रीमियम तत्काल टिकटों से हुई है। राजस्व में इस अवधि के दौरान 62 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। मध्य प्रदेश के आरटीआई एक्टिविस्ट चंद्रशेखर गौर ने RTI के जरिए इसका खुलासा किया है।


कब हुई तत्काल टिकट सर्विस की शुरुआत


अचानक यात्रा करने वालो यात्रियों को आराम दायक और सुविधा जनक यात्रा बनाने के मकसद से सरकार ने साल 1997 में इसकी शुरुआत की थी। उस समय यह सर्विस बहुत कम रेगाड़ियों में थी। बाद में साल 2004 में तत्काल टिकट बुकिंग सर्विस को पूरे देश में विस्तार किया गया।


बता दें कि तत्काल टिकट बुक करने पर स्लीपर क्लास में ओरिजनल किराए 10 फीसदी अधिक वसूला जाता है। इसी तरह एसी में 30 फीसदी है। इस शुल्क में अधिकतम और न्यूनतम सीमा भी लागू की गई है।


प्रीमियम तत्काल सर्विस


कुछ खास ट्रेनों में साल2014 में सरकार ने प्रीमियम सर्विस की शुरुआत की थी। इस सर्विस में डायनमिक फेयर सिस्टम यानी सीट की मौजूदगी के मुताबिक 50 फीसदी तत्काल टिकट बेचे जाते हैं। गौर के मुताबिक, रेलवे ने बताया कि साल 2016-2017 में तत्काल टिकट से 6,672 करोड़ रुपये की कमाई हुई और अगले साल यह बढ़कर 6,915 करोड़ रुपये हो गई।


रेलवे के मुताबिक तत्काल स्कीम के तहत फिलहाल 2,677 ट्रेन हैं। आंकड़ों के मुताबिक तत्काल स्कीम के तहत 11.57 लाख सीटों में 1.71 लाख सीटों पर बुकिंग तत्काल कोटे के तहत होती है।      
 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।