Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

RBI ने रद्द किया पश्चिम बंगाल के बगनान स्थित यूनाइटेड कोऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस

जिस यूनाइटेड को-ऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस रद्द हुआ है वह पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिला में पड़ने वाले बगनान में स्थित है.
अपडेटेड May 14, 2021 पर 14:43  |  स्रोत : Moneycontrol.com

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने खराब फाइनेंशियल कंडीशन को देखते हुए पश्चिम बंगाल के बगनान में स्थित यूनाइटेड को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड (United Co-Operative Bank Ltd.) का लाइसेंस रद्द (License Cancel) कर दिया है। RBI के इस फैसले के बाद 13 मई 2021 से ही इस को-ऑपरेटिव बैंक के सभी तरह की बैंकिंग कारोबार (Banking Business Restrictions) पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।


आरबीआई ने बताया कि पश्चिम बंगाल के को-ऑपरेटिव सोसायटीज के रजिस्‍ट्रार ने भी बैंक को बंद करने और लिक्विडेटर की नियुक्ति करने का आग्रह किया था। आरबीआई ने जिस यूनाइटेड को-ऑपरेटिव बैंक का लाइसेंस रद्द किया है, वह पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिला में पड़ने वाले बगनान में स्थित है।


RbI ने इस बारे में जारी स्टेटमेंट में कहा है कि यूनाइटेड को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड बैंकिंग रेग्‍युलेशन एक्‍ट, 1949 (Banking Regulation Act, 1949) के कुछ नियमों को भी पूरा नहीं कर रहा था। साथ ही कहा कि बैंक पर पाबंदियां नहीं लगाना उसके जमाकर्ताओं के हितों के लिए सही नहीं होगा।  बैंक अपनी मौजूदा वित्तीय स्थिति के साथ अपने डिपॉजिटर्स को पूरा पेमेंट करने में भी असमर्थ होगा। अगर बैंक को कारोबार जारी रखने की इजाजत दी जाती है तो ये ग्राहकों के हितों के खिलाफ होगा। इस बात को ध्यान में रखते हुए बैंक का लाइसेंस रद्द करते हुए सभी गैंकिंग गतिविधियां पर तत्‍काल प्रभाव से पाबंदी लगाई जा रही है।


बैंक के सभी जमाकर्ताओं को डिपॉजिट इंश्‍योरेंस (Deposit Insurance) और क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (DICGC) के जरिये पूरी जमा रकम लौटाई जाएगी। RBI ने कहा कि लाइसेंस रद्द होने और जरूरी कार्यवाही शुरू होने के साथ ही DICGC एक्‍ट, 1961 के तहत जमाकर्ताओं को उनकी रकम लौटा दी जाएगी। बैंक की ओर से ग्राहकों के बारे में जो आंकड़े उपलब्‍ध कराए गए हैं। उसी के मुताबिक सभी जमाकर्ताओं को पूरी रकम लौटाई जाएगी। इसके लिए केंद्रीय नियमों के मुताबिक, 5 लाख रुपये तक की अधिकतम सीमा का पालन भी किया जाएगा।



 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.