Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

नेत्रहीनों को आरबीआई का मिलेगा वरदान

प्रकाशित Sun, 12, 2019 पर 18:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

असली या नकली नोट की पहचान करना थोड़ा टेढ़ी खीर है। फिर नेत्रहीनों के लिए तो नोटों की पहचान करना और मुश्किल काम है। लेकिन अब नेत्रहीनों के लिए आरबीआई एक नई पहल कर रहा है, जिससे नेत्रहीन लोग नोटो को आसानी से पहचान सकेंगे।




 दरअसल आज तक डिजिटल में प्रकाशित खबर के मुताबिक, आरबीआई ने नेत्रहीनों के लिए नोटों की पहचान करने वाले एक मोबाइल ऐप लाने का प्रस्ताव तैयार कर रहा है। आरबीआई ने इस ऐप को बनाने वाली कंपनियों से बोलियां मंगाई हैं।



इस ऐप में महात्मा गांधी सीरीज और महात्मा गांधी नई सीरीज के असली नोटों को पहचान करने के लिए खासतौर से ऐप बनाने पर विचार कर रहा है। इसमें मोबाइल के सामने नोट रखने मात्र से ही नोट की असली या नकली पहचान की जा सके। ये ऐप बिना इंटरनेट के भी चल सके। इस ऐप को किसी भी ऐप स्टोर में वॉयस के जरिए खओजा सके। इसको कई भाषाओं में हना चाहिए। साथ हिंदी और अंग्रेजी में तो जरूरी है। आपको बता दें कि देश में तकरीबन 80 लाख लोग हैं जो या तो नेत्रहीन हैं या उन्हें देखने में कठिनाई होती है।


 


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, नकली नोट की पहचान करने के लिए ऐप लॉन्च होने वाला है। फाइनेंस मिनिस्ट्री के एक अधिकारी के मुताबिक, नकली नोट की पहचान करने वाले ऐप बनाने वाली कंपनी का सेलेक्शन प्रॉसेस शुरु हो गया है।




आरबीआई की नई नोटों को पहचान करने में अन्य लोगों को भी कड़ी मशक्कत करनी पड़ती है। फिलहाल आरबीआई की इस पहल से नेत्रहीन लोगों को मदद मिलेगी।