Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कैश लाइट सोसायटी के लिए RBI का विजन 2021

प्रकाशित Thu, 16, 2019 पर 11:15  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मोदी सरकार के डिजिटल इंडिया को पंख लगाने के काम में भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई जुट गया है। आरबीआई ने 2021 में पेमेंट (भुगतान) से संबंधित एक विजन तैयार किया है। इस विजन के जरिए आंकलन लगाया गया है कि आने वाले साल में कितने लोग डिजिटल रूप से पेमेंट करेंगे।


 दरअसल देश में कम कैश वाली अर्थव्यवस्था को देखकर आरबीआई ने सुरक्षित, सुविधाजनक, तेज और सस्ती ई-पेमेंट सिस्टम को लेकर विजन तैयार किया है। आरबीआई को उम्मीद है कि दिसंबर 2021 तक देश में डिजिटल माध्यम से होने वाला लेन देन चार गुना से भी अधिक बढ़कर 8,707 करोड़ तक पहुंच जाएगा।



भारत में पेमेंट और सेटेलमेंट सिस्टम:  विजन 2019-21 को जारी करते हुए देश में ई-पेमेंट के अनुभव को बेहतर करने, हाई डिजिटल और कैश लाइट सोसायटी (कम नकदी वाला समाज) बनाने की दिशा में कदम उठाया गया है। आरबीआई का मानना है कि न्यू सर्विस देने वाले और नए तौर तरीकों के आने से पेमेंट सिस्टम में लगातार बदलाव जारी रहेगा। इससे उपभोक्ताओं को कम लागत पर कई प्रकार से पेमेंट करने के सिस्टम का ऑप्शन मिलेगा।  




आरबीआई ने आगे कहा कि, इस विजन को 2019-21 के दौरान लागू किया जाएगा।




इससे पहले पिछला विजन 2016-18 के लिए जारी किया गया था। इस नए विजन में UPI/IMPS  के जरिए पेमेंट करने की सालाना वृद्धि 100 फीसदी दर्ज होने की संभावना है। और NEFT में 40 फीसदी की संभावना है। 



देश में डिजिटल माध्यमों से होने वाला लेनदेन दिसंबर, 2018 के 2,069 करोड़ रुपये से चार गुना से अधिक बढ़कर दिसंबर 2021 तक 8,707 करोड़ रुपये तक पहुंच जाने का अनुमान जताया गया है।