Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

EMI पर छूट : बैंकों ने जारी की गाइडलाइंस, जानिए अकाउंट पर क्या होगा असर

बैंकों ने लोन की EMI नहीं देने की सुविधा सभी ग्राहकों को देने का फैसला लिया है। एक -एक कर बैंकों ने गाइडलाइंस जारी करना शुरू कर दिया है।
अपडेटेड Apr 01, 2020 पर 10:30  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बैंकों ने लोन की EMI नहीं देने की सुविधा सभी ग्राहकों को देने का फैसला लिया है। एक -एक कर बैंकों ने गाइडलाइंस जारी करना शुरू कर दिया है। इन गाइडलाइंस के मुताबिक अगर आप मार्च की EMI दे चुके हैं तो सिर्फ 2 महीने तक के लिए छूट मिलेगी।


बैंकों लोन की EMI पर अब तक कई सरकारी बैंकों ने गाइडलाइंस जारी की है। IBA भी जल्द गाइडलाइंस जारी करने जा रहा है। बता दें कि लॉकडाउन और कोरोना संकट को देखते हुए  RBI ने 3 महीने तक के लिए EMI से छूट का एलान किया था।


ये  छूट Housing Loan, Loan Against Property, Auto Loan, Education Loan, Personal Loan जैसे लोन पर लागू होगी।


EMI नहीं देने की सुविधा सभी कर्जदारों पर लागू होगा। अगर EMI नहीं देनी है तो उसके लिए लोन धारकों को कुछ नहीं करना है। अगर कर्ज धारक लोन की किस्त (EMI) देना चाहते हैं तो उन्हें अपने बैंकों को सूचित करना होगा।



बता दें कि  लोन की EMI पर मिलना वाला ये छूट 1 मार्च 2020 से 31 मई 2020 तक पड़ने वाली EMI पर  ही लागू होगा।  अगर मार्च में EMI का भुगतान बैंक को किया है तो लोन की EMI पर मिलना वाली छूट अप्रैल से मई तक मिलेगी।


इससे आपके लोन की अवधि 3 महीने बढ़ जाएगी। 3 महीने के दौरान लगने वाला ब्याज आगे वसूला जाएगा। आगे की EMI के साथ ब्याज को एडजस्ट किया जाएगा। बता दें कि 3 महीने तक लोन की EMI ना भरने पर क्रेडिट रेटिंग पर कोई असर नहीं पड़ेगा।


गौरतलब हो कि 1 मार्च से पहले का कोई Default/Overdue है तो उस रकम का भुगतान ब्याजकर्ता को बैंक को चुकाना होगा। पुराने बकाये का भुगतान नहीं टाला जाएगा। भुगतान नहीं करने पर पेनल्टी लगेगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।