Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जुलाई में ग्रोथ के मोर्चे पर राहत, IIP बढ़कर 4.3%

जुलाई में इंडस्ट्री की ग्रोथ रेट (IIP) 4.3 फीसदी पर रही है जो जून में 2 फीसदी रही थी।
अपडेटेड Sep 13, 2019 पर 11:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जुलाई में इंडस्ट्री की ग्रोथ पटरी पर लौटी है। जुलाई में IIP ग्रोथ 4.3 फीसदी रही जो अनुमान से काफी बेहतर है। साथ ही ये आंकड़ा बताता है कि इंडस्ट्रियल ग्रोथ 8 महीनों की ऊंचाई पर है। जून में इंडस्ट्री ग्रोथ सिर्फ 2 फीसदी रही थी जिसके मुकाबले जुलाई के ग्रोथ आंकड़े अच्छे रहे हैं। दरअसल मैन्यूफैक्चरिंग ग्रोथ में जोरदार सुधार हुआ है जो 1.2 फीसदी से बढ़कर 4.2 फीसदी पर आई है। माइनिंग में भी ग्रोथ जून के 1.6 फीसदी के मुकाबले जुलाई में 4.9 फीसदी रही है। इन दोनों कोर सेक्टर्स का IIP ग्रोथ आंकड़ों में बड़ा योगदान होता है। प्राइमरी और इंटरमीडिएट गुड्स की ग्रोथ भी अच्छी रही, हालांकि कैपिटल गुड्स और इलेक्ट्रिसिटी ग्रोथ में गिरावट दिखी है।


महीने दर महीने आधार पर जुलाई में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ 1.2 फीसदी से बढ़कर 4.2 फीसदी रही है। वहीं माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ 1.6 फीसदी से बढ़कर 4.9 फीसदी पर पहुंच गई है। हालांकि जुलाई बिजली का उत्पादन घटा है और ये जून के 8.2 फीसदी से गिरकर 4.8 फीसदी पर आ गया है।


महीने दर महीने आधार पर जुलाई में कैपिटल गुड्स सेक्टर की ग्रोथ -6.5 फीसदी के मुकाबले -7.1 फीसदी पर आ गई है। वहीं प्राइमरी गुड्स सेक्टर की ग्रोथ  0.5 फीसदी से बढ़कर 3.5 फीसदी रही है।


जुलाई में इंटरमीडियेट गुड्स सेक्टर की ग्रोथ जून के 12.4 फीसदी से बढ़कर 13.9 फीसदी पर रही है जबकि इसी अवधि में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ -5.5 के मुकाबले -2.7 फीसदी रही है। वहीं जुलाई में नॉन कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ पिछले महीने के 7.8 फीसदी से बढ़कर 8.3 फीसदी रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।