Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

लॉकडाउन में ढील से आर्थिक मोर्चे पर राहत,मई में E-Way Bill जेनरेशन में ने पकड़ी रफ्तार

मई में लॉकडाउन में ढील मिलने से E-Way Bill जेनरेशन में अप्रैल के मुकाबले करीब 200 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।
अपडेटेड Jun 05, 2020 पर 09:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आर्थिक मोर्चे पर अच्छी खबर है। मई में लॉकडाउन में ढील मिलने से E-Way Bill जेनरेशन में अप्रैल के मुकाबले करीब 200 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। इसका मतलब राज्य के अंदर और बाहर दोनों जगहों पर माल ढुलाई यानि कार्गो मूवमेंट में खासा सुधार हुआ है।


कोरोना संकट के चलते देश भर में जारी लॉकडाउन में हल्की ढील से आर्थिक गतिविधियों में तेजी लौटी है। इंटरस्टेट और इंट्रास्टेट कार्गो मूवमेंट में तेजी से सुधार देखने को मिला है। मई के आखिर में रोजाना 11.4 लाख E-Way Bill जेनरेट हुए है। बता दें कि अप्रैल के मुकाबले मई में करीब 3 गुना E-Way Bill जारी हुए


जानकारों को उम्मीद है कि जून के बाद कारोबार पूरी तरह से सामान्य होने की संभावना है। लॉकडाउन से अप्रैल में सिर्फ 86 लाख E-Way Bill जेनेरेट होते थे लेकिन देशभर में लागू लॉकडाउन के वजह से रोजाना औसत 2.9 लाख E-Way Bill जेनेरेट हुए थे। मई में रोजाना औसतन 8.2 लाख E-Way Bill जेनेरेट हुए है।


हालांकि लॉकडाउन के पहले के  मुकाबले जेनेरशन अभी काफी कम है। गौरतलब हो कि 50,000 से अधिक की माल ढुलाई के लिए E-Way Bill जरूरी होता है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।