Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

राहत पैकेज-5: मनरेगा के लिए अतिरिक्त 40 हजार करोड़ रुपये मिले, शिक्षा पर दिया जोर

कोरोना वायरस की वजह से घर लौटने वाले मजदूरों के लिए निर्मला सीतारमण ने मनरेगा बजट में 40,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त प्रावधान किया है
अपडेटेड May 18, 2020 पर 10:19  |  स्रोत : Moneycontrol.com

फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने आज पीएम मोदी की ओर से घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज की पांचवीं किस्त के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने आज के पैकेज में दूसरे राज्यों से अपने घरों की ओर लौट रहे मजदूरों और देश के बच्चों की शिक्षा व्यवस्था पर खास तौर से जोर दिया है।


फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने मनरेगा के लिए आवंटित 61,000 करोड़ रुपे के बजट में 40,000 करोड़ रुपये का अतिरिक्त प्रावधान किया है। यानी इस बजट में 40 हजार करोड़ रुपये और जोड़ दिए गए हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य पर खास तौर से जोर दिया है। हेल्थ वर्कर्स के लिए 50 लाख करोड़ रुपये के बीमा योजना का ऐलान किया है। जिला स्तर के हॉस्पिटल में इन्फेक्सन से होने वाली बीमारी से लड़ने की तैयारी होगी। गांवों में हर बल्क लेवल पर पब्लिक हेल्थ बनाने का ऐलान किया है। टेस्टिंग और लैब के लिए 550 करोड़ रुपये के फंड का प्रवधान किया गया है। किसानों को संकट के समय 86 हजार करोड़ रुपये के लोन का प्रबंध किया गया है।


शिक्षा पर जोर


शिक्षा पर जोर देते हुए फाइनेंस मिनिस्टर ऑनलाइन एजूकेशन को बढ़ावा देने के लिए कई घोषणाएं की हैं। डिजिटल या ऑनलाइन एजूकेशन के लिए मल्टी-मोड एक्सेस का एक कार्यक्रम जल्द ही शुरू करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि डिजिटल एजूकेशन के लिए दीक्षा प्लेटफॉर्म बनाया जाएगा। पीएम-ई-विद्या प्रोग्राम की लॉन्च किया जाएगा। 12वीं क्लास तक के लिए वन क्लास वन चैनल की शुरुआत की जाएगी। दिव्यांग ब्च्चों के लिए ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था की जाएगी।  बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए मनोदर्पण योजना शुरू की जाएगी। 100 विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन क्लास की मंजूरी दी गई है। राज्यों को चार घंटे का एजुकेशन के लिए कंटेंट देने को कहा गया है। 200 नई पुस्तकें ऑनलाइन जोड़ी गई हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।