Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कोरोना संकट में MSME को राहत, सेंट्रल बैंक ने शुरू की आपातकालीन कर्ज सेवा

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने कोरोना संकट में त्रस्त हुए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (MSME) को अतिरिक्त वर्किंग कैपिटल उपलब्ध कराने के लिए आपातकालीन कर्ज सेवा शुरू की है।
अपडेटेड Jun 16, 2020 पर 10:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने कोरोना संकट में त्रस्त हुए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों (MSME) को अतिरिक्त वर्किंग कैपिटल उपलब्ध कराने के लिए आपातकालीन कर्ज सेवा शुरू की है। इसके लिए बैंक ने गारंटीड इमरजेंसी क्रेडिट लाइन (GECL) लागू की है। कोरोना के संक्रमण के कारण सभी प्रकार के उद्योग धंधे बंद पड़ गये थे जिससे बैंक की ये पहल उद्योगों को राहत पहुंचाने वाली है।


अनलॉक की अवधि में उद्योग धीरे-धीरे शुरू हो रहे हैं लेकिन उनके सामने वर्किंग कैपिटल की बड़ी दिक्कत है। करोना काल में व्यवसाय नहीं होने के कारण दैनिक कामों के लिए पूंजी उपलब्ध नहीं है। उद्योगों को इस मुश्किल से छुटकारा दिलाने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार ये सेवा शुरू की गई है।


इस सेवा का उपयोग MSME उद्योग वापस शुरू करने के लिए किया जायेगा। GECL की अंतर्गत बैंक वर्किंग कैपिटल के लिए निश्चित समयावधि का कर्ज देगा। महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक 29 फरवरी 2020 को MSME कंपनियों के पास उपलब्ध कुल निधि के 20 प्रतिशत के बराबर राशि बैंक के पास से कर्ज के रूप में मिल सकती है। इसकी अधिकतम सीमा 5 करोड़ रुपये है। इस वित्तीय सहायता का उपयोग उद्यमियों द्वारा कच्चे माल की खरीदारी, मजदूरों को वेतन, मुआवजा, अन्य कामकाज और वैधानिक खर्चों को पूरा करने के लिए किया जा सकेगा।


इस कर्ज के लिए बैंक ने रेपो सहित ब्याज लगाया है जो हर साल के लिए 7.50 प्रतिशत होगा। बैंक ने इसके लिए प्रोसेसिंग चार्ज पूरी तरह से माफ कर दिया है। इसी प्रकार इस कर्ज के लिए कोई भी गारंटी शुल्क या दंडात्मक ब्याज नहीं लिया जायेगा। पहले से मंजूरी प्राप्त कर्ज के रूप में ये वित्तीय सहायता बैंक द्वारा प्रदान की जायेगी। बैंक ने रेपो रेट में आरबीआई द्वारा कटौती किये जाने का लाभ ग्राहकों को देने के लिए होम लोन पर ब्याज दर कम करके 6.85 प्रतिशत वार्षिक कर दिया है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।