चिप्स, बिस्किट्स के पैकेट में जहर का खतरा -
Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

चिप्स, बिस्किट्स के पैकेट में जहर का खतरा

प्रकाशित Fri, 03, 2018 पर 07:40  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आपके खाने-पीने का सामान जिन पैकेट्स में आता हैं उन पर खतरनाक केमिकल्स का इस्तेमाल होता है। ये केमिकल्स इतने खतरनाक होते हैं कि आपकी किडनी तक को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स अब ऐसे ही 5 खतरनाक कैमिकल्स को बैन करने जा रहा है। लेकिन बैन लागू होने में अभी वक्त लगेगा।


खाने पीने की चीजों से सेहत को पड़ने वाले नुकसान को लेकर हम सभी चिंतित रहते हैं। सीएनबीसी-आवाज़ के पास इसे लेकर आपके लिए एक अच्छी और एक बुरी खबर है। बुरी खबर ये कि सिर्फ खाना ही नहीं बल्कि इसके पैकेजिंग में इस्तमाल कैमिकल भी आपकी सेहत को नुकसान  पहुंचा सकता है और अच्छी खबर ये कि भारत ने ऐसे 5 कैमिकल्स को बैन करने का फैसला किया है।


चिप्स, बिस्किट्स या खाने पीने की दूसरी चीजों के पैकट पर इतने खतरनाक केमिकल का इस्तेमाल होता है कि ये आपकी किडनी को नुकसान पहुंचा सकते है। ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स यानी बीआईएस ने ऐसे 5 जहरीले केमिकल्स की पहचान कर इन पर रोक लगाने का फैसला किया है। ये कैमिकल आम तौर पर पैकेट्स की छपाई में इस्तेमाल होने वाले इंक में होते है। लेकिन सवाल ये है कि आखिर पैकेट से ये हमारे खाने तक कैसे पहुंच जाते हैं।


फूड आइटम्स बनाने वाली करीब 80 फीसदी कंपनियां इन केमिकल्स का इस्तेमाल करती हैं। जबकि दुनिया भर में इन केमिकल्स के इस्तेमाल पर पर रोक है। अब जाकर बीआईएस इन केमिकल्स और छपाई के इंक में इस्तेमाल होने वाले हेवी मेटल्स को रेगुलेट करने जा रहा है। लेकिन बैन के लिए अगले साल जून तक का इंतजार करना पड़ सकता है। वैसे नेस्लेजैसी कंपनियों ने टॉलीन फ्री इंक का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।