Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आरे कॉलोनी में शुरु हुई पेड़ों की कटाई, लागू हुई धारा 144

बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले के बाद मुंबई की आरे कॉलोनी में कल देर रात पेड़ काटने का काम भी शुरू हो गया।
अपडेटेड Oct 07, 2019 पर 09:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बॉम्बे हाईकोर्ट के फैसले के बाद मुंबई की आरे कॉलोनी में कल देर रात पेड़ काटने का काम भी शुरू हो गया। कल बॉम्बे हाईकोर्ट ने मुंबई की आरे कॉलोनी को जंगल घोषित करने वाली सभी याचिकाओं को खारिज कर दिया जिसके बाद कटाई का काम शुरू हो गया। इसके विरोध में कई प्रदर्शनकारी मौके पर पहुंच गए। मेट्रो रेल साइट पर जमकर नारेबाजी की। बवाल इतना बढ़ा कि शनिवार को आरे में धारा 144 लागू कर दी गई।


मुंबई पुलिस ने मामले में FIR दर्ज कर 20 लोगों को गिरफ्तार किया। इस बीच पुलिस ने आरे की तरफ जाने वाली सभी सड़कों पर बैरिकेड लगा दिए हैं। अभी तक 800 से ज्यादा पेड़ काटे जाने की खबर है। पेड़ काटने के लिए और भी मशीन्स साइट पर मंगवाई गई हैं। इलाके के 3 किलोमीटर के रेडियस में किसी को भी जाने की इजाजत नहीं है।


शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने ट्वीट कर केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अगर इस तरह से जंगल काटे जा रहे हैं तो प्लास्टिक प्रदूषण पर बोलने का कोई फायदा नहीं है।


पेड़ काटे जाने के विरोध में शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी आरे कॉलोनी पहुंच गई और जिस जगह पर पेड़ काटे जा रहे हैं वहाँ जाने की कोशिश करने लगी। लेकिन पुलिसवालों ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया और उनकी कार में बैठाकर वहां से ले गए। इस दौरान प्रियंका चतुर्वेदी और पुलिसवालों के बीच काफ़ी बहस भी हुई।


कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा ने भी इस मुद्दे को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट में लिखा, मुंबई में पेड़ काटना अपने फेफड़ों में चाकू गोदने जैसा है। शहर जब अपनी कोस्टलाइन और ग्रीन कवर खत्म करता है तो वह कयामत का दिन करीब बुला रहा है।


उधर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा है कि सरकार बनने के बाद वो पेड़ों का कत्ल करने वालों को देखेंगे। उद्धव ने कहा, मैं अलग से प्रेस कॉन्फ्रेंस करूंगा. इस पर सही समय पर बोलूंगा।


केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने आरे कॉलोनी में पेड़ काटे जाने का विरोध करने पर कहा कि,  दिल्ली में भी मेट्रो बनवाने के दौरान पेड़ काटे गए थे लेकिन एक पेड़ की जगह पाँच पेड़ लगाए।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।