Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

SBI ने ग्राहकों को दिया झटका, सेविंग और FD पर ब्याज दरें घटाई

SBI ने ब्याज दरों कटौती किए जाने के पीछे बैंकिंग सिस्टम में पर्याप्त लिक्विडी का हवाला दिया।
अपडेटेड Oct 10, 2019 पर 14:42  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने फेस्टिव सीजन में अपने ग्राहकों को जोर का झटका धीरे से दिया है। बैंक ने जहां एक ओर MCLR में कटौती की तो, वहीं सेविंग अकाउंट और FD में इंट्रेस्ट रेट घटा दिया। इससे कई ग्राहकों पर इसका असर पड़ेगा। बैंक ने 1 लाख रुपये जमा होने पर इंट्रेस्ट रेट 3.50 फीसदी से घटाकर 3.25 फीसदी कर दिया है। ये नए नियम 1 नवंबर से लागू होंगे। SBI के पास 28 लाख करोड़ रुपये से अधिक का डिपोजिट बेस है।


इतना ही नहीं SBI 1 से 2 साल की अवधि के लिए रिटेल टर्म डिपोजिट यानी FD और बल्क टर्म डिपोजिट पर मिलने वाले इंट्रेस्ट में भी कटौती कर दी है। FD पर इंट्रेस्ट रेट में 10 बेसिस प्वाइंट की कमी की गई है। वहीं बल्क टर्म डिपोजिट पर इंट्रेस्ट रेट में 30 बेसिस प्वाइंट की कमी की गई है। नए इंटेस्ट रेट 10 अक्टूबर से लागू हो जाएंगे।   


इससे पहले, SBI ने 1 लाख रुपये से ऊपर के डिपॉजिट वाले बैंक अकाउंट के इंट्रेस्ट रेट को रेपो रेट से जोड़ने की घोषणा की थी। मौजूदा समय में यह रेट 3 फीसदी है।
SBI ने अपने बयान में कहा है कि बैंकिंग सिस्टम में पर्याप्त लिक्विडिटी को देखते हुए   सेविंग अकाउंट और FD पर इंट्रेस्ट रेट्स में कटौती की गई है। 


बता दें कि SBI ने MCLR में 10 आधार अंक घटा दिया है। यानी 0.10 फीसदी की कटौती करने की घोषणा कर दी है। इस नई कटौती के बाद MCLR 8.15 फीसदी से घटकर 8.05 फीसदी प्रति वर्ष हो गया। नई दर 10 अक्टूबर 2019 से लागू होगी। ऐसे में SBI से होम लोन, ऑटो लोन या पर्सनल लोन लेना सस्ता हो जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।